Advertisement

Dainik Bhaskar Brings you the latest Hindi News

शुक्रवार को शुभ योग में करें श्री लक्ष्मी द्वादशनाम स्तोत्रम् का पाठ, इससे बन सकते हैं धन लाभ के योग

dainikbhaskar.com | Jul 11, 2018, 05:34 PM IST

इस बार शु्क्रवार, 13 जुलाई को बहुत ही शुभ योग बन रहा है। इस योग में देवी लक्ष्मी को प्रसन्न करने के उपाय करें।

इस बार 13 जुलाई को आषाढ़ मास की अ
-- पूरी ख़बर पढ़ें --

रिलिजन डेस्क. इस बार 13 जुलाई को आषाढ़ मास की अमावस्या है। इस दिन शुक्रवार भी है। अमावस्या तिथि और शुक्रवार दोनों ही देवी लक्ष्मी से संबंधित हैं। इस दिन सर्वार्थसिद्धि योग भी बन रहा है। इस योग में किए गए उपायों में सफलता मिलने की संभवाना ज्यादा रहती हैं। उज्जैन के ज्योतिषाचार्य पं. मनीष शर्मा के अनुसार, इस दिन माता लक्ष्मी को प्रसन्न करने के लिए श्री लक्ष्मी द्वादशनाम स्तोत्रम् का पाठ करना चाहिए। इस स्त्रोत का पाठ करने से मां लक्ष्मी शीघ्र ही प्रसन्न हो जाती हैं और मनचाहा फल प्रदान करती हैं...
श्री लक्ष्मी द्वादशनाम स्तोत्रम्
ईश्वरीकमला लक्ष्मीश्चलाभूतिर्हरिप्रिया।
पद्मा पद्मालया सम्पद् रमा श्री: पद्मधारिणी।।
द्वादशैतानि नामानि लक्ष्मी संपूज्य य: पठेत्।
स्थिरा लक्ष्मीर्भवेत्तस्य पुत्रदारादिभिस्सह।।
अर्थ - ईश्वरी, कमला, लक्ष्मी, चला, भूति, हरिप्रिया, पद्मा, पद्मालया, संपद्, रमा, श्री, पद्मधारिणी। इन 12 नामों से देवी लक्ष्मी की पूजा की जाए तो स्थिर लक्ष्मी (धन) की प्राप्ति होती है।
जाप विधि
- अमावस्या की सुबह जल्दी उठकर नहाने के बाद साफ वस्त्र पहनकर देवी लक्ष्मी की पूजा करें। उन्हें लाल गुलाब के फूल अर्पित करें।
- देवी लक्ष्मी की मूर्ति के सामने आसन लगाकर स्फटिक की माला लेकर इस स्त्रोत का जाप करें। कम से कम 5 माला जाप करें। आसन कुश का हो तो अच्छा रहता है।