Advertisement

Dainik Bhaskar Brings you the latest Hindi News

बदायूं में गैंगरेप पीड़िता ने फांसी लगाई, पुलिस ने कहा था- दुष्कर्म नहीं हुआ, एक आरोपी से बात करती थी लड़की

20 अगस्त को मूसाझाग गांव में नाबालिग से 3 दबंगों ने दुष्कर्म किया था

DainikBhaskar.com | Aug 23, 2018, 03:37 PM IST

 

 

- एसएसपी ने बुधवार को कहा था कि पीड़िता एक आरोपी को पहले से ही जानती थी

- आरोपी और लड़की के बीच करीब 122 बार फोन पर बात भी हुई

 

बदायूं.  उत्तर प्रदेश के बदायूं जिले में एक नाबालिग गैंगरेप पीड़िता ने बुधवार देर रात फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। पीड़िता के परिजनों का कहना है कि उनकी बेटी घटना के बाद से आहत थी। 20 अगस्त को मूसाझाग गांव में नाबालिग से 3 दबंगों ने दुष्कर्म किया था।

एसएसपी अशोक कुमार ने बुधवार को बताया कि परिजनों की शिकायत के बाद लड़की का मेडिकल कराया गया। रिपोर्ट में दुष्कर्म की पुष्टि नहीं हुई। लड़की एक आरोपी को पहले से ही जानती थी। दोनों के बीच फोन पर 122 बार बात भी हुई। इसके अलावा नाबालिग के शरीर पर चोट का निशान नहीं मिला। वहीं, गुरुवार को बच्ची की आत्महत्या के बाद एसएसपी अशोक कुमार ने कहा कि अभी पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट आना बाकी है। 

 

समझौता करने का डाला गया दबाव: परिजनों के मुताबिक, बच्ची 20 अगस्त को घर पर अकेली थी। उसी वक्त गांव के तीन लोगों ने उसे प्राइमरी स्कूल में ले जाकर सामूहिक दुष्कर्म किया था। नाबालिग मंगलवार सुबह स्कूल के बाहर बेहोशी की हालत में मिली थी। परिजनों का आरोप है कि पुलिस केस दर्ज करने की बजाय उस पर समझौते का दबाव डाल रहे थे। अफसरों के दखल के बाद तीन लोगों के खिलाफ सामूहिक दुष्कर्म और पाक्सो एक्ट में एफआईआर दर्ज की गई। मामले में एक आरोपी गिरफ्तार किया जा चुका है, दो फरार हैं। 

 

 

Advertisement

Dainik Bhaskar Brings you the latest Hindi News

टॉप न्यूज़और देखें

Advertisement

बॉलीवुड और देखें

स्पोर्ट्स और देखें

Advertisement

Dainik Bhaskar Brings you the latest Hindi News

जीवन मंत्रऔर देखें

राज्यऔर देखें

वीडियोऔर देखें

बिज़नेसऔर देखें