Advertisement

Dainik Bhaskar Brings you the latest Hindi News

हार्दिक पटेल ने किया जल का त्याग, ट्वीट कर कहा-सत्ता के खिलाफ जनता विस्फोट करेगी

तबीयत बिगड़ने के बहाने पुलिस आधी रात को रामदेव बाबा की तरह हार्दिक पटेल को भी ले जा सकती है।

Dainikbhaskar.com | Aug 30, 2018, 01:46 PM IST

अहमदबाद। पाटीदारों को आरक्षण देने और किसानों का कर्ज माफ करने की मांग को लेकर पास नेता हार्दिक पटेल ने आमरण अनशन शुरू किया है। गुरुवार को उपवास का छठा दिन है। बुधवार को हार्दिक ने एफबी पर लाइव कर छठे दिन से जल का त्याग करने की घोषणा की। प्रजातंत्र में जनता की आवाज को नहीं दबाया जा सकता…

 

गुरुवार को हार्दिक पटेल ने कहा कि सर्वोच्च न्यायालय ने भी कहा है कि प्रजातंत्र में जनता की आवाज को नहीं दबाया जा सकता। मैं दावे के साथ कहता हूं कि यह संपूर्ण लोक क्रांति का आह्वान है। सत्ता के खिलाफ जनता का विस्फोट होगा।

 

संजीव भट्ट और कांग्रेस नेता करसन सोलंकी ने भेंट की

पाटीदार आरक्षण आंदोलन समिति (पास) के नेता हार्दिक पटेल के आमरण अनशन के पांचवें दिन बुधवार को बर्खास्त आईपीएस अधिकारी संजीव भट्ट और राज्य के पूर्व शिक्षा मंत्री और कांग्रेस नेता करसन सोलंकी ने भी उनके आवास पर उनसे मुलाकात की। उधर, हार्दिक के स्वास्थ्य की जांच करने वाले चिकित्सकों ने बताया कि उनका ब्लड प्रेशर, नब्ज और सुगर का स्तर तो सामान्य बना हुआ है पर उनके मूत्र के नमूने में एसीटोन की मात्रा सामान्य से अधिक है। ऐसे में उन्हें फलों का रस और अधिक मात्रा में तरल लेने की सलाह दी गई है।

 

डॉक्टर्स जांच कर रहे हैं
अहमदाबाद के सोला सिविल अस्पताल, जिसके चिकित्सक उनकी स्वास्थ्य की जांच कर रहे हैं, के अधीक्षक डाॅ. आजेश देसाई ने बताया कि हार्दिक के स्वास्थ्य के जरूरी संकेतक तो सामान्य स्तर पर हैं पर मूत्र में एसीटोन आना पोषण की कमी को दर्शाता है। हमने उन्हें अस्पताल में भर्ती कराने की एहतियाती सलाह दी है। हमारे डाक्टरों की टीम उनके स्वास्थ्य पर नजर बनाए हुए है। इस बीच, हार्दिक के यहां एसजी हाईवे के निकट स्थित आवास के आसपास कड़ी पुलिस सुरक्षा तथा आने जाने वालों की जांच और इसमें कथित रूकावट को लेकर आज भी उनके समर्थकों के साथ पुलिस की कहासुनी हुई।


पुलिस पर डेढ़ किमी दूर ही लोगों को अनशन स्थल पर जाने से रोकने का आरोप
अनशन पर बैठे हार्दिक पटेल से मिलने जाने वालों को पुलिस डेढ़ किमी पहले ही रोक रही है। इतना ही नहीं दूध, पानी समेत अन्य सामान ले जाने पर प्रतिबंध लगाया गया है। इस मामले पर हाईकोर्ट में याचिका दायर की गई है। पाटीदार आरक्षण आंदोलन समिति की ओर से एडवोकेट बीएम मांगुकिया ने हाईकोर्ट में दायर याचिका में कहा है कि हार्दिक अपने घर वैष्णोदेवी सर्कल ग्रीनवुड रिसॉर्ट में अपने घर पर अनशन पर बैठे हैं। अहमदाबाद शहर सेक्टर-1 के ज्वाइंट पुलिस कमिश्नर विश्वकर्मा ने लोगों को उपवास स्थल पर जाने पर प्रतिबंध लगाया है, जो गैरकानूनी है। हार्दिक से मिलने जाने वालों को पुलिस रोक रही है। पुलिस जनता के अधिकारों पर कुठाराघात कर रही है। संविधान में जनता को स्वतंत्रता का अधिकार दिया गया है। लोग उपवास के माध्यम से अपना विरोध व्यक्त कर सकते हैं। उपवास करने वाले से मिलने आने वालों को रोकने का पुलिस को कोई अधिकार नहीं है। उच्च अधिकारी के आदेश पर पुलिस हार्दिक से मिलने आने वालों को डेढ़ किमी दूर ही रोक रही है। याचिका पर आगामी दिनों में सुनवाई होगी।


पानी जैसी जरूरी चीजों में भी अड़चन डाल रही है पुलिस: ललित वसोया
हार्दिक के समर्थक तथा उनके संगठन पास के पूर्व संयोजक रहे कांग्रेस के विधायक ललित वसोया ने दावा किया कि पुलिस उनके घर में शाक-सब्जी और पीने के पानी जैसी जरूरी चीजों की आपूर्ति में भी अड़चन डाल रही है। किसानों की ऋण माफी और पाटीदार समुदाय को आरक्षण की मांग को लेकर हार्दिक गत 25 अगस्त से यहां अपने आवास पर अनशन पर बैठे हैं। उन्हें सरकार ने पूर्व में उनके कार्यक्रमों के दौरान हुई हिंसा के मद्देनजर बाहर अनशन करने की अनुमति नहीं दी। कांग्रेस पार्टी और अन्य विपक्षी दलों ने इस कार्यक्रम को खुल कर समर्थन दिया है।


पाटीदार बहुल इलाकों पर पुलिस रखे हुए है नजर
तबीयत बिगड़ने के बहाने पुलिस आधी रात को हार्दिक पटेल को ले जा सकती है। इससे पहले दिल्ली के रामलीला मैदान में उपवास पर बैठे बाबा रामदेव को भी पुलिस ऐसे ही उठाकर ले गई थी। इसी पैटर्न पर पुलिस हार्दिक को उनके आवास से ले जाने की तैयारी कर रही है। हार्दिक के घर के आसपास पुलिस की संख्या बढ़ा दी गई है। अहमदाबाद के पाटीदार इलाकों पर भी पुलिस नजर रखे हुए है।

 

Advertisement

Dainik Bhaskar Brings you the latest Hindi News

टॉप न्यूज़और देखें

Advertisement

बॉलीवुड और देखें

स्पोर्ट्स और देखें

Advertisement

Dainik Bhaskar Brings you the latest Hindi News

जीवन मंत्रऔर देखें

राज्यऔर देखें

वीडियोऔर देखें

बिज़नेसऔर देखें