Advertisement

Dainik Bhaskar Brings you the latest Hindi News

Parenting : जॉब के साथ आसानी से होगी बच्चों की परवरिश, ये 6 बातें अपनाएं

जॉब करने के साथ बच्चे की परवरिश एक वर्किंग मॉम के लिए किसी चुनौती से कम नहीं है।

Dainikbhaskar.com | May 28, 2018, 02:16 PM IST

यूटिलिटी डेस्क. कामकाजी महिलाओं के लिए वह समय कठिन होता है जब घर में छोटा बच्चा हो और ऑफिस में ढेर सारा काम। ऐसे में ऑफिस और घर के कामों के बीच तालमेल बिठाने के लिए कुछ टिप्स अपनाए जा सकते हैं। सायकोलॉजिस्ट डॉ. विनय     मिश्रा बता रहे हैं ऐसी 6 बातें जो आपकी जॉब के साथ बच्चों की परवरिश को भी बेहतर बनाएंगी। 

 

01. प्राथमिकता तय करें 
स्पष्ट रहें कि आपकी प्राथमिकता सूची में सबसे ऊपर क्या है? यदि आपकी प्राथमिकता सूची में सबसे ऊपर बच्चा है तो फिर इस बात पर विचार करें कि बच्चे की देखभाल के बारे में आप किन-किन चीजों पर ध्यान देंगी। किस सीमा तक उसके साथ समझौता कर सकती हैं। 

 

02. ऑफिस का चुनाव करें 
शुरुआत में ऐसी कंपनी में काम करें, जहां एक मां के तौर पर आपकी जिम्मेदारी के प्रति भी संवेदनशीलता बरती जाती हो। काम के घंटे अपेक्षाकृत कम और दफ्तर का समय लचीला हो। ऐसी स्वतंत्रता संतुलन बना सकती है। 

 

03. प्लानिंग करें, मदद लें 
कामकाजी महिलाएं अपने हर काम की योजना बनाएं, जिससे आपका समय बर्बाद न हो और न ही आप पर किसी तरह का दबाव बने। अगर आप मिलजुल कर काम करेंगी तो निश्चित ही काम जल्दी खत्म होगा और आप भी रिलैक्स रहेंगी। घर के कामों में पति की या अन्य किसी की मदद लेने से ना हिचकें। 

 

04. वीकेंड में खाली रहें 
बच्चों को वीकेंड का बड़ी बेसब्री से इंतजार होता है, क्योंकि इस समय वे आपके साथ हो सकते हैं। वीकेंड पर खाली रहने के लिए हफ्ते में हर दिन छोटे-छोटे काम निपटा लें, जिससे आप छुट्टी के दिन बच्चे के साथ पूरा समय व्यतीत कर सकें। इससे आप पूरे सप्ताह की गैप को एकसाथ भरने में कामयाब हो सकते हैं। 

 

05.तकनीक की मदद लें 
आजकल बाजार में कई ऐसी चीजें उपलब्ध हैं जो खासकर कामकाजी मां को ख्याल में रखकर बनाई गई हैं। ये चीजें आपके काम को कम करने में काफी हद तक आपकी मदद कर सकती हैं। बच्चे पर मानसिक दबाव बनाने से बेहतर है कि उसे अधिक से अधिक समय देने के साथ बातचीत का दायरा बढ़ाएं। उसे चीजों को समझाएं। 

 

06. घर जल्दी लौटें 
ऑफिस की जिम्मेदारी जल्दी खत्म हो जाए तो घर जल्दी आकर बच्चों के साथ समय बिताएं। हर रोज घर आने का समय निर्धारित कर लें, जिससे आप उस समय तक अपने सभी काम निबटा सकेंगी और बच्चों के साथ समय भी बिता पाएंगी। बच्चों को भी आपके जल्दी आने की खुशी बनी रहेगी। 

Advertisement

Dainik Bhaskar Brings you the latest Hindi News

टॉप न्यूज़और देखें

Advertisement

बॉलीवुड और देखें

स्पोर्ट्स और देखें

Advertisement

Dainik Bhaskar Brings you the latest Hindi News

जीवन मंत्रऔर देखें

राज्यऔर देखें

वीडियोऔर देखें

बिज़नेसऔर देखें