Advertisement

Dainik Bhaskar Brings you the latest Hindi News

पत्नी के चाल-चलन को देख 5वें पति को हुआ शक, छानबीन किया तो सामने आया महिला के 4 और शादियों का राज

पांचवें पति की शिकायत पर पुलिस ने केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

Bhaskar News | Jun 30, 2018, 04:38 PM IST

अम्बाला. लोगों की मजबूरियों का फायदा उठाकर पहले उनसे शादी रचाना और फिर उन पर दबाव बनाकर पैसा ऐंठना, यही पेशा है कविता धमीजा का। कविता अपने पिता गुरचरण और चौथे पति ओमप्रकाश के साथ मिलकर गिरोह चला रही है। यह आरोप कविता के पांचवें पति बीएसएनएल कर्मचारी पूर्णचंद सैनी ने लगाए हैं। कविता उस जैसे तीन अन्य लोगों को शादी करके ठग चुकी है। उनसे करीब 17 लाख और सोना लेकर फरार हो चुकी है। पांचवें पति की शिकायत पर पुलिस ने केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। ये था पूरा मामला...


- अंबाला कैंट के वशिष्ठ नगर में रहने वाले पूर्ण चंद सैनी की पहली पत्नी का 2010 में देहांत हो गया था। सैनी को पहली पत्नी से 2 बच्चे हैं। बच्चों की देखभाल के लिए सैनी को पत्नी और बच्चों के लिए मां की जरूरत महसूस हुई। उन्होंने एक विज्ञापन निकलवाया जिसे देख करनाल जिले से गुरचरण का फोन आया। उसने बेटी कविता की शादी को लेकर बात की।

- गुरचरण ने पूर्वचंद सैनी को बताया, उसकी बेटी की शादी करनाल के रहने वाली राधेश्याम से हुई थी। शादी के बाद कविता को 2 बच्चे हुए, मगर पति से अनबन रहती थी, इसलिए दोनों का तलाक हो गया। लड़का राधेश्याम के पास रहता है और बेटी करनाल में रहती है।

- इन दोनों ने सैनी को विश्वास में लेने के लिए तलाक की काॅपी भी दिखाई। बात पक्की होने के बाद सैनी और कविता की 7 नवंबर 2010 को शादी हो गई।

 

कविता और उसकी बेटी की चाल-चलन देख हुआ शक, छानबीन में खुला 4 शादियों का राज

 

सैनी ने बताया, शादी के कुछ समय तक कविता ठीक रही, लेकिन बाद में उसने शराब पीना शुरू कर दिया। वह बच्चों के लिए खाना भी नहीं बनाती थी। जब वह घर से बाहर होता था तो ओमप्रकाश नाम के व्यक्ति को बुला लेती थी। पूछने पर कविता ने उसे दूर का भाई और पेशे से वकील है। कविता बिना बताए घर से चली जाती थी और चार-चार दिन गायब रहती थी। उसके ओमप्रकाश के साथ नाजायज संबंध हैं। यही नहीं, कुछ समय बाद कविता अपनी बेटी को भी घर ले आई, उसका स्कूल में एडमिशन करवा दिया। इसके बाद मैंने छानबीन शुरू की तो कविता के चार और शादियों के बारे में पता चला।

 

पहली: कविता ने पहली शादी दो नवंबर 1993 को राधेश्याम से की। जिससे उसने 28 फरवरी 2006 को धमकी देकर 5 लाख, जेवरात व बेटी के लिए एक मकान हासिल किया, फिर तलाक लिया।

दूसरी: कविता ने दूसरी शादी 2007 में दिल्ली के नवीन भाटिया से की। फिर 5 महीने बाद उसे भी परेशान करने लगी। नवीन से भी पांच लाख नकद और जेवरात लेकर चली गई।

तीसरी: कविता ने धोखे में रखकर शेखोपुरा के साहब सिंह से तीसरी शादी की। इसे भी झूठे मुकदमे में फंसाने का डर दिखाकर 4 लाख कैश और जेवरात हासिल किए।

चौथी शादी:  9 मई 2009 को करनाल निवासी ओमप्रकाश से की। इसका प्रमाण पत्र आर्य समाज मंदिर सेक्टर-22ए चंडीगढ़ में दर्ज है। वीपी इंटरनेशनल स्कूल में 2009-2010 में बेटी के सर्टिफिकेट पर पिता के तौर पर ओमप्रकाश का नाम दर्ज है।


कविता की बेटी का चाल-नहीं था ठीक

 

पूर्ण चंद सैनी ने बताया, जब उसे पता चला कि कविता की बेटी का चाल-चलन ठीक नहीं है तो उसने समझाने की कोशिश की, लेकिन मां-बेटी ने हंगामा कर दिया। पुलिस बुला ली। इस दौरान, कविता घर से 3 लाख और उसकी पहली पत्नी का सोना लेकर चली गई। यह सब उसने पिता गुरचरण दास और ओमप्रकाश के साथ मिलकर किया। बाद में उससे 10 लाख की मांग की। कहा- अगर पैसे नहीं मिले तो वह अपनी बेटी से उसके बेटे पर रेप का झूठा केस दर्ज करवा देगी। उसने पुलिस में शिकायत की। कविता बेटी को लेकर करनाल चली गई। तब से आज तक उसका कुछ पता नहीं चला। मगर वह फोन पर धमकियां देती रहती है।

 

महेशनगर थाना इंचार्ज ने कहा, धोखे में रखकर पांचवीं शादी करने वाली महिला व उसके परिजनों पर केस दर्ज किया है। गिरफ्तारी के लिए छापामारी की जाएगी। जल्द ही पकड़ लिया जाएगा।

Advertisement

Dainik Bhaskar Brings you the latest Hindi News

टॉप न्यूज़और देखें

Advertisement

बॉलीवुड और देखें

स्पोर्ट्स और देखें

Advertisement

Dainik Bhaskar Brings you the latest Hindi News

जीवन मंत्रऔर देखें

राज्यऔर देखें

वीडियोऔर देखें

बिज़नेसऔर देखें