Advertisement

Dainik Bhaskar Brings you the latest Hindi News

करंसी/ डॉलर के मुकाबले रुपया 72.91 के निचले स्तर पर, इस साल 14% गिरावट

Dainik Bhaskar | Oct 03, 2018, 11:04 AM IST
-- पूरी ख़बर पढ़ें --

  • जनवरी में रुपया 63 पर था, अब 73 के करीब
  • ब्रेंट क्रूड बुधवार को 80 डॉलर प्रति बैरल के करीब

मुंबई. डॉलर के मुकाबले रुपए में गिरावट थम नहीं रही। बुधवार को यह 22 पैसे कमजोर होकर 72.91 के रिकॉर्ड निचले स्तर तक पहुंच गया। हालांकि, मिडसेशन में रिकवरी आ गई। रुपया मंगलवार को 24 पैसे गिरकर 72.69 पर बंद हुआ था।Advertisement

अंतरराष्ट्रीय वजहों से रुपए में ज्यादा गिरावट

  1. रुपया ज्यादा गिरा तो सरकार कदम उठाएगी

    आर्थिक मामलों के सचिव सुभाष चंद्र गर्ग ने कहा, सरकार और आरबीआई हर कोशिश करेगी कि रुपया अनावश्यक स्तर तक नहीं फिसले।

    Advertisement

  2. ब्रेंट क्रूड का रेट बुधवार को 2% बढ़कर 79.34 डॉलर प्रति बैरल पहुंच गया। उधर, अमेरिका-चीन के बीच ट्रेड वॉर तेज होने के आसार हैं। इससे भी करंसी बाजार में दबाव बढ़ा।

  3. रुपए में गिरावट से तेल कंपनियों पर दोहरी मार पड़ेगी। उनके लिए क्रूड का इंपोर्ट महंगा हो जाएगा। विदेशी कर्ज चुकाने के लिए सरकार ज्यादा रकम खर्च करनी पड़ेगी।

  4. कमजोर रुपया विदेशों में पढ़ाई और घूमने-फिरने का खर्च भी बढ़ाएगा। क्योंकि, करंसी एक्सचेंज के लिए ज्यादा कीमत चुकानी पड़ेगी। गिरावट बढ़ने पर आरबीआई ब्याज दरों में इजाफा कर सकता है।

  5. आईटी और फार्मा कंपनियों को रुपए की गिरावट से फायदा होगा। क्योंकि, इनका ज्यादातर कारोबार एक्सपोर्ट पर आधारित है। इस साल आईटी और फार्मा कंपनियों के शेयरों में इसी वजह से तेजी आई।

  6. डॉलर के मुकाबले इस साल दुनियाभर की मुद्राओं में गिरावट आई। लेकिन, एशिया में भारतीय रुपए का प्रदर्शन सबसे खराब रहा। जनवरी से अब तक रुपया 14% गिर चुका है।

  7. 2018 में डॉलर के मुकाबले दूसरी मुद्राएं

    करंसी गिरावट
    यूरो 3.3%
    ब्रिटिश पाउंड 3.6%
    श्रीलंकाई रुपया 5.5%
    साउथ कोरियन वॉन 5.5%
    इंडोनेशियाई रुपया 9%
    भारतीय रुपया 14%
    रशियन रूबल 18.2%
    साउथ अफ्रीकन रैंड 18.7%
    तुर्की लीरा 41.3%
    अर्जेंटीना पैसो 50.3%