Advertisement

Dainik Bhaskar Brings you the latest Hindi News

दयनीय स्थिति में जी रहे हैं वर्ल्ड कप दिलाने वाला ये क्रिकेटर, नहीं है खुद घर तक और मिट्टी के चूल्हे पर रोटी बनाने को है मजबूर

Bhaskar News | Sep 11, 2018, 02:37 PM IST

क्रिकेटर नरेश तुमडा और उसकी टीम ने 21 जनवरी 2018 को ब्लाइंड वर्ल्ड कप जीता था।

-- पूरी ख़बर पढ़ें --

वांसदा/नवसारी (गुजरात)। जिस ब्लाइंड क्रिकेटर ने भारत को वर्ल्ड कप दिलाया था। आज सरकार इस वर्ल्ड चैम्पियन के साथ ब्लाइंड जैसा ही व्यवहार कर रही है। खेल मंत्री और भाजपा नेता खिलाड़ी के घर जाकर अपना स्वागत कराए थे। मंत्री द्वारा खिलाड़ी के लिए कोई घोषणा न किए जाने से ग्रामीणों में रोष है। खिलाड़ी का परिवार आज भी आवास, गैस कनेक्शन से कोसों दूर है। गुजरात के नवसारी जिले के वांसदा तहसील के खाटा गांव में रहने वाले ब्लाइंड क्रिकेटर नरेश तुमडा और उसकी टीम ने 21 जनवरी 2018 को ब्लाइंड वर्ल्ड कप जीता था।

मुलाकात करने पर खुल गई सरकारी दावे की पोल

नरेश तुमडा ने भारत को वर्ल्ड कप दिलाया था। चैम्पियन बनने के 8 महीने बाद इस क्रिकेटर की याद आई और रविवार को राज्य के खेलकूद मंत्री ईश्वरसिंह पटेल उसके घर गए। मंत्री ने क्रिकेटर नरेश से पहले अपना फिर भाजपा नेताओं का स्वागत कराया। इस दौरान मंत्री ने क्रिकेटर नरेश तुमड़ा के लिए कोई घोषणा नहीं की। नरेश तुमड़ा के घर की मुलाकात करने पर सरकारी दावे की पोल खुल गई।

भाजपा खिलाड़ियों के नाम पर प्रचार करने में जुटी

वांसदा के विधायक अनंत पटेल ने कहा कि भाजपा के शासनकाल में पेट्रोल, डीजल, महंगाई से लोग परेशान हो गए हैं। भाजपा लोगों के बीच जाकर प्रचार करने की स्थिति में नहीं है। अब भाजपा प्रचार करने के लिए खिलाड़ियों के नाम का सहारा ले रही है। खेल महाकुंभ में हजारों खिलाड़ी शामिल हुए थे। जिसमें सरिता गायकवाड़ मेहनत करके आगे आई। सरिता गायकवाड़ के गोल्ड मेडल जीतने पर भाजपा अपनी वाहवाही करते हुए खेल महाकुंभ के नाम से अपना प्रचार कर रही है। सरिता गायकवाड़ को सरकार ने पुरस्कृत किया यह अच्छी बात है। वहीं दूसरी ओर ब्लाइंड क्रिकेटर के साथ सरकार अन्यायपूर्ण व्यवहार कर रही है।

सरकार के बदले संस्थाएं कर रही हैं नरेश तुमडा की मदद

नवसारी सहकार ट्रस्ट के अशोक धोराजिया ने ब्लाइंड क्रिकेटर नरेश तुमडा को हर महीने दो हजार रुपए देने की घोषणा की है। जबकि जिला भाजपा ने 25 हजार रुपए की घोषणा की। ग्रामीणों ने चंदा इकट्ठा करके क्रिकेटर को 20 हजार रुपए का इनाम दिया।