Advertisement

Dainik Bhaskar Brings you the latest Hindi News

पीक अावर्स में हर दो मिनट में दौड़ेगी मेट्रो; एक कोच में 300 पैसेंजर कर सकेंगे यात्रा

एक स्टेशन पर 30 सेकंड ठहरेगी, 6 स्टेशनों का निर्माण जल्द पूरा होगा, मेट्रो का पहला स्टेशन वस्त्राल 80% तैयार

Dainikbhaskar.com | Sep 06, 2018, 05:31 PM IST

अहमदाबाद | मेट्रो ट्रेन का पहला स्टेशन वस्त्राल 80 प्रतिशत तक बनकर तैयार हो गया है। वस्त्राल से एपेरल पार्क तक 6 किमी रूट पर जनवरी-2019 में मेट्रो ट्रेन दौड़ने लगेगी। इस रूट पर वस्त्राल गाम, निरांत चौराहा, वस्त्राल(महादेव का टेकरा), रबारी कॉलोनी, अमराईवाड़ी और एपेरल पार्क स्टेशन होगा। इन सभी स्टेशनों का काम दिसंबर तक पूरा हो जाएगा। पीक अावर्स में हर दो मिनट पर मेट्रो दौड़ेगी। एक कोच की क्षमता 300 यात्री...

 

मेट्रो के एक कोच की क्षमता 300 पैसेंजर की है। तीन कोच की हर ट्रेन में 900 पैसेंजर यात्रा कर सकेंगे। यह एक स्टेशन पर 30 सेकंड ठहरेगी। मेट्रो ट्रेन चालू होने के बाद शहर के पब्लिक ट्रांसपोर्ट की क्षमता में लगभग 70 प्रतिशत की बढ़ोतरी होगी। अभी एएमटीएस-बीआरटीएस की 800 बसें हर फेरे में 40 हजार पैसेंजरों को ढो रही हैं। मेट्रो की 32 ट्रेन में 30 हजार पैसेंजर्स यात्रा करेंगे। मेट्रो से दूसरा फायदा यह होगा कि कहीं भी ट्रैफिक जाम नहीं होगा। एएमटीएस-बीआरटीएस बसों के हर फेरे में 40 हजार लोग यात्रा करते हैं, मेट्रो की 32 ट्रेन में 30 हजार यात्रा करेंगे। पहली मेट्रो ट्रेन 6 किमी रूट पर जनवरी में दौड़ेगी, मेट्रो से पब्लिक ट्रांसपोर्ट की क्षमता 70% बढ़ेगी।

 

वस्त्राल स्टेशन की लम्बाई 140 मीटर

वस्त्राल स्टेशन की लंबाई 140 मीटर और चौड़ाई 27 मीटर है। स्टेशन पर 4 लिफ्ट, 4 एस्केलेटर, 4 सीढ़ी, 2 टिकट विंडो और 2 टिकट वेंडिंग मशीन लगेगी। एक कोच में 300 पैसेंजर यात्रा कर सकेंगे। 50 लाेगों के बैठने और 250 के खड़े होने की जगह होगी।

 

दो मंजिला स्टेशन, लिफ्ट की भी व्यवस्था

वस्त्राल में दो मंजिला मेट्रो स्टेशन बन रहा है। कॉन्फोर्स एरिया में पैसेंजरों के बैठने की सुविधा होगी। रोड से कॉन्फोर्स एरिया और वहां से प्लेटफार्म पर जाने के लिए सीढ़ी, लिफ्ट और एस्केलेटर की व्यवस्था होगी। स्टेशन पर टिकट विंडो के अलावा ऑटोमैटिक टिकट वेंडिंग मशीन भी लगेगी। दिव्यांग पैसेंजर व्हीलचेयर के साथ प्लेटफार्म तक जा सकेंगे।

 

मेट्रो में तीन से लेकर छह तक होंगे कोच

मेट्रो ट्रेन में प्रयोग के तौर पर पहले तीन कोच लगाए जाएंगे। ज्यादा कोच की जरूरत होने पर एक ट्रेन में छह कोच लगाए जाएंगे। पिक अवर्स को छोड़कर शेष समय में 12 से 15 मिनट में ट्रेन चलेगी। मेट्रो ट्रेन प्रतिघंटे 34 किमी की रफ्तार से दौड़ेगी।

 

 

Advertisement

Dainik Bhaskar Brings you the latest Hindi News

टॉप न्यूज़और देखें

Advertisement

बॉलीवुड और देखें

स्पोर्ट्स और देखें

Advertisement

Dainik Bhaskar Brings you the latest Hindi News

जीवन मंत्रऔर देखें

राज्यऔर देखें

वीडियोऔर देखें

बिज़नेसऔर देखें