Advertisement

Dainik Bhaskar Brings you the latest Hindi News

अटलजी के अंतिम संस्कार के बाद अब उनकी पार्थिव देह पर लपेटे गए तिरंगे का क्या होगा... खुद भारत सरकार के पूर्व होम सेक्रेटरी ने दिया इसका जवाब

पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी का शुक्रवार को दिल्ली के स्मृति स्थल पर अंतिम संस्कार किया गया।

Dainikbhaskar.com | Sep 17, 2018, 02:17 PM IST

न्यूज डेस्क।  पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी का शुक्रवार को दिल्ली के स्मृति स्थल पर अंतिम संस्कार किया गया। उन्हें दत्तक पुत्री नमिता ने मुखाग्नि दी। गुरुवार (16 अगस्त) को अटलजी की मृत्यु के बाद उनके पार्थिव शरीर को तिरंगे में लपेटकर कृष्ण मेनन मार्ग स्थित उनके आवास पर लाया गया था। इस तिरंगे को दाह संस्कार से ठीक पहले निकाला गया। हम बता रहे हैं अटलजी के अंतिम संस्कार के बाद उनकी पार्थिव देह पर लपेटे गए तिरंगे का क्या होगा... और किन लोगों के पार्थिव शरीर पर तिरंगा लपेटा जाता है।

 

अटलजी के पार्थिव देह पर लपेटे गए तिरंगे का क्या होगा? 

 

रिटायर्ड यूनियन होम सेकेट्ररी एलएस गोयल ने बताया कि पार्थिव शरीर पर लिपटे तिरंगे को राजकीय सम्मान के साथ संबंधित व्यक्ति के परिवार को सौंप दिया जाता है। यह पूरी प्रक्रिया सेना के प्रोटोकोल के तहत होती है। इसमें थल सेना, नौसेना और वायु सेना तीनों हिस्सा लेती हैं। इस पूरी सेरेमनी को थल सेना द्वारा लीड किया जाता है। पार्थिव शरीर पर लिपटे तिरंगे का कभी भी पब्लिक यूज नहीं होता। महान शख्सियतों के साथ ही सेना के जवान के ना रहने पर भी पार्थिव शरीर पर लिपटे तिरंगे को परिवार को देने का नियम है। अटलजी के मामले में भी यही होगा।

 

इन लोगों के पार्थिव शरीर पर लपेटा जाता है तिरंगा...

राजकीय सम्मान पाने वाले व्यक्ति के शव को तिरंगे में लपेटा जाता है। जब किसी शव पर तिरंगा लपेटा जाता है तब केसरिया रंग सिर और हरा रंग पैरों की तरफ रखा जाता है। जिससे सिर से लेकर पैर तक सफेद पट्टी चक्र सहित आए और केसरिया और हरी पट्टी दाएं-बाएं हों। किसी व्यक्ति के शव के साथ ध्वज को जलाया या दफनाया नहीं जाता, बल्कि मुखाग्नि से पहले या कब्र में शरीर रखने से पहले ध्वज को हटा लिया जाता है। ये प्रोसेस सेना द्वारा की जाती है।

 

किन्हें मिलता है राजकीय सम्मान

राजकीय सम्मान प्रधानमंत्री, मुख्यमंत्री के साथ अन्य बड़े नेताओं और दूसरे संवैधानिक पदों पर बैठे लोगों को दिया जाता है। इसके अलावा केंद्र सरकार किसी भी शख्‍स को यह सम्मान देने का आदेश दे सकती है। पहले ये सम्मान चुनिंदा लोगों को ही दिया जाता था, लेकिन अब राज्य सरकार इस बात का फैसला करती है कि व्यक्ति विशेष का कद क्या है और उसे राजकीय सम्मान दिया जाए या नहीं। इसका कोई तय दिशा-निर्देश नहीं है।

 

इन्हें भी मिल सकता है....

सरकार राजनीति, साहित्य, कानून, विज्ञान और सिनेमा जैसे क्षेत्रों में अहम किरदार निभाने वाले लोगों को भी राजकीय सम्मान देती सकती है। इस सम्मान के दौरान शव को तिरंगे में लपेटा जाता है और गन सैल्यूट भी दिया जाता है।

Advertisement

Dainik Bhaskar Brings you the latest Hindi News

टॉप न्यूज़और देखें

Advertisement

बॉलीवुड और देखें

स्पोर्ट्स और देखें

Advertisement

Dainik Bhaskar Brings you the latest Hindi News

जीवन मंत्रऔर देखें

राज्यऔर देखें

वीडियोऔर देखें

बिज़नेसऔर देखें