Advertisement

Dainik Bhaskar Brings you the latest Hindi News

मां के कहने पर बेटी ने कराया पिता का मर्डर, 3 लाख रुपए में दी सुपारी

Bhaskar News | Jul 02, 2018, 03:13 AM IST

पाली जिले की घटना, मां-बेटियों समेत चार आरोपी गिरफ्तार

पुलिस की गिरफ्त में आरोपी मां,
-- पूरी ख़बर पढ़ें --

पाली. यह भी एक अपराध की खबर है। रिश्तों के ताने-बाने को तोड़ने वाली खबर। 45 साल के एक व्यक्ति की हत्या हुई। हत्या पत्नी ने कराई और कत्ल की सुुपारी बेटी ने अपने प्रेमी को दी थी। पुलिस ने पत्नी और दो बेटियों समेत चार लोगों को गिरफ्तार किया है। पाली जिले के आनंदपुर कालू थाना क्षेत्र में 18 जून को बाबूलाल जाट (45) की नृशंस हत्या हुई थी। नफरत का आलम ऐसा कि दो बेटियों और पत्नी ने आरोपी महिपाल से साथ मिलकर बाबूलाल के शरीर पर चाकू से 30 वार किए थे। आरोपियों की पहचान पत्नी सुंदरी देवी, पुत्री सुशीला(21), ममता(19) व नागौर के ढींगसरा निवासी महिपाल जाट के रूप में हुई है।

- एसपी दीपक भार्गव ने बताया, महिपाल मृतक बाबूलाल की छोटी पुत्री ममता का प्रेमी है। आशंका है कि इस हत्याकांड में महिपाल के कुछ और दोस्त भी शामिल हैं। उनकी तलाश की जा रही है। आरोपियों का कहना है कि बाबूलाल जाट चरित्र में संदेह को लेकर अक्सर पत्नी और पुत्रियों को पीटता था। रोज-रोज के झगड़े से परेशान सुंदरी देवी के कहने पर बेटी ममता ने प्रेमी को पिता की हत्या के लिए 3 लाख रुपए की सुपारी दे दी।

गुमराह करने के लिए कहा- सुबह 3 बजे 5 लोग आए.. हत्या कर भाग गए
- घटना को लेकर मृतक की पत्नी और पुत्रियों ने बताया सुबह 3 से 4 बजे के बीच पांच लोग दीवार फांद कर उसके घर में घुसे, जिन्होंने चारपाई पर सो रहे उसके पति पर हथियारों से हमला कर दिया। हमला होता देख पास के चारपाई से उठ कर मृतक की पत्नी अपने तीनों बच्चों को लेकर घर से बाहर भागी और गांव में रहने वाले अपने परिवार के लोगों को घटनाक्रम बताया।
- हालांकि घटनास्थल के हालात, वारदात का तरीका तथा परिजन जिस तरह की वारदात का जिक्र कर रहे हैं। यह सारी बातें और तथ्य पुलिस के गले शुरू से ही नहीं उतर रहा था।

आरोपी इतना घबराए कि दीवार फांद भागे
18 जून को तड़के ममता का प्रेमी महिपाल दोस्तों को लेकर खारचिया गांव में बाबूलाल के घर पहुंचा। उस समय ममता ने माता और बड़ी बहन सुशीला के साथ दरवाजा खोलकर आरोपियों को बताया बाबूलाल घर के चौक में सो रहा है। वारदात के बाद आरोपियों के हाथ-पैर फूल गए तो वे दरवाजे के बजाय दीवार फांदकर भागे।

मां और दो बेटियों ने चाकू से 30 वार किए

पूछताछ में सामने आया है कि मृतक बाबूलाल के प्रति उसकी पत्नी व दोनों बेटियों के मन में इस कदर खून सवार था कि वे भी हत्या में शामिल रही। आरोपी जब चाकुओं से हमला कर रहे थे तो तीनों मां-बेटियों ने भी उनके हाथ से चाकू लेकर चारपाई पर लेटे बाबूलाल के शरीर पर वार कर छलनी कर दिया। मृतक के शरीर पर 30 से अधिक घाव मिले थे, जबकि चारपाई के आसपास खून बिखरा हुआ मिला था।