Advertisement

Dainik Bhaskar Brings you the latest Hindi News

बीमार ट्रोमा सेंटर/ सोनोग्राफी के बाद एक्स-रे की तीनों मशीनें बंद, 200 मरीज भटकते रहे

Dainik Bhaskar | Sep 12, 2018, 01:33 PM IST
-- पूरी ख़बर पढ़ें --

  • दो माह से सोनोग्राफी बंद, निजी अस्पतालों में जाना पड़ता है जांच कराने

बीकानेर. खिंयेरा निवासी 12 साल के देवीलाल के पैर का एक्स-रे कराने के लिए परिजन उसे स्ट्रेचर पर लिए भटकते रहे। ट्रोमा सेंटर की एक्स-रे मशीनें खराब होने के कारण उन्हें पीबीएम हॉस्पिटल के रेडियोडायग्नोसिस विभाग जाना पड़ा। वहां भीड़ होने से एक घंटे तक इंतजार करना पड़ा। ऐसे करीब 200 रोगियों को मंगलवार को एक्स-रे और सोनोग्राफी की जांच के लिए परेशानी उठानी पड़ी है।Advertisement

ट्रोमा में एक्सरे की तीन मशीने, तीनों खराब

  1. प्रशासनिक उदासीनता, आपसी सामंजस्य नहीं

    ट्रोमा सेंटर में सोनोग्राफी और एक्स-रे मशीनों की खराबी का मुख्य कारण रखरखाव की कमी है। इसके साथ ही वरिष्ठ डॉक्टरों में आपसी सामंजस्य का अभाव है। इसका ताजा उदाहरण सामने है। सोनोग्राफी की मशीन को खराब हुए दो माह बीत चुके हैं और इसकी फाइल ही अधीक्षक के पास नहीं थी। यही कारण था कि मशीन की एएनसी ही नहीं कराई जा सकी। बताया जाता है कि कॉलेज स्तर पर जिन मशीनों की खरीद होती है। उनकी फाइलें संबंधित विभाग और अधीक्षक तक पहुंच ही नहीं पाती। 

    Advertisement

  2. मास केजुअल्टी आ जाए तो क्या हो

    पीबीएम हॉस्पिटल के ट्रोमा सेंटर में एक्स-रे की तीन ही मशीनें हैं और मंगलवार को तीनों ही बंद पड़ी थीं। ऐसे में मास केजुअल्टी आ जाए तो क्या होगा। लोगों को एक्स-रे के लिए इधर-उधर भटकना पड़ेगा। उन्हें उपचार समय पर नहीं मिल सकेगा। इन दिनों मेलों का माहौल है। रामदेवरा का मेला शुरू हो चुका है। दो-तीन दिन में पूनरासर मेला भी शुरू हो जाएगा।