फैक्ट चेक / 370 हटने से बौखलाए इमरान के मंत्री ट्विटर पर शेयर कर रहे झूठे फैक्ट, हरियाणा के पुराने वीडियो को कश्मीर का बता रहे

  • क्या वायरल : पुलिस का लाठीचार्ज करते हुए एक वीडियो। इसे पाकिस्तान के समुद्री मामलों के मंत्री ने शेयर करते हुए अमेरिका से अपील की है कि नरेंद्र मोदी को रोकने के लिए भारत पर कड़े आर्थिक प्रतिबंध लगाना चाहिए
  • क्या सच : शेयर किया गया वीडियो कश्मीर नहीं बल्कि हरियाणा का है। यह राम रहीम के समर्थकों को पुलिस द्वारार खदेड़ने के दौरान का है

Dainik Bhaskar

Aug 20, 2019, 04:27 PM IST

फैक्ट चेक डेस्क. जब से मोदी सरकार ने जम्मू-कश्मीर में धारा-370 को निष्प्रभावी किया है, तब से ही पाकिस्तान बौखलाया हुआ है। वहां के पत्रकारों से लेकर अधिकारी तक झूठे वीडियो शेयर कर रहे हैं। अब पाकिस्तान के समुद्री मामलों के केंद्रीय मंत्री अली हैदर जैदी ने भी एक पुराना वीडियो शेयर करते हुए इसे कश्मीर का बता दिया। दुनिया को गुमराह करने के लिए पाकिस्तानी ऐसा कर रहे हैं। पड़ताल में जैदी द्वारा शेयर किए गए वीडियो का सच सामने आ गया।

क्या वायरल

  • पाकिस्तानी केंद्रीय मंत्री अली हैदर जैदी ने ट्विटर पर वीडियो शेयर किया।
  • इसमें कैप्शन दिया कि 'दुनिया देखे कि नरेंद्र मोदी सरकार कश्मीर में क्या कर रही है। जब सारी दुनिया सो रही है तो उत्तर का हिटलर पैदा हो गया है। डोनाल्ड ट्रंप को भारत पर आर्थिक प्रतिबंध लगा देना चाहिए इससे पहले कि इस दरिंदे को रोकना बहुत मुश्किल हो जाए'
  • इस ट्वीट को 6300 से ज्यादा यूजर्स लाइक कर चुके हैं और 5 हजार से ज्यादा बार इसे रीट्वीट किया जा चुका है।
  • अली हैदर जैदी द्वारा शेयर किया गया वीडियो कुल 1 मिनट 53 सेकंड का है। इसमें पुलिस लाठीचार्ज करते नजर आ रही है। 1 मिनट 14 सेकंड पर एक महिला बच्चे के साथ नजर आ रही है, जिसे चोट लगी हुई है। साथ में एक बुजुर्ग महिला भी दिख रही है, जो बेहोशी की हालत में मालूम पड़ती है।

क्या है सच्चाई

  • पड़ताल में पता चला कि पाकिस्तानी मंत्री का दावा पूरी तरह से झूठा है, जो वीडियो उन्होंने शेयर किया है वह कश्मीर नहीं बल्कि हरियाणा का है और यह दो साल पुरानी घटना का वीडियो है।
  • पाकिस्तान मिनिस्टर के ट्वीट पर ही बेंगलुरू के एक सीआरपीएफ ऑफिसर कश्यप कदगट्टूर ने रिप्लाई किया है और बताया कि यह कश्मीर का नहीं है। उन्होंने बताया कि डेरा सच्चा सौदा के अनुयायियों की पुलिस से झड़प के दौरान का यह वीडियो है।
  • यह वीडियो सोशल मीडिया पर 2017 से ही उपलब्ध है। GSA Gallery और NYOOOZ TV ने इसे यूट्यूब पर अपलोड किया था।
  • मीडिया रिपोर्ट्स से भी पता चला कि 25 अगस्त 2017 को हरियाणा के पंचुकला में हिंसा हुई थी। राम रहीम को कोर्ट ने रेप का दोषी माना था, इसी के बाद उसके अनुयायियों ने शहर में प्रदर्शन शुरू कर दिया था।कई यूट्यूब चैनलों पर भी यह वीडियो उस समय अपलोड किया गया था।
  • पाकिस्तानी मंत्री द्वारा शेयर किए गए वीडियो में एक महिला की आवाज में वॉइस ओवर है, इससे पता चलता है कि ओरिजिनल वीडियो से छेड़छाड़ की गई है।
  • वायरल वीडियो में 3 सेकंड पर एक लाल रंग की कार भी देखी जा सकती है। इसकी नंबर प्लेट CH से शुरू होती है। इससे भी पता चलता है कि यह चंडीगढ़ की कार है।

क्या है वीडियो के दूसरे हिस्से का सच

  • वीडियो के दूसरे हिस्से में जिस महिला को बच्चे के साथ दिखाया गया है, वह भी 2018 का वीडियो है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, तेलंगाना के पुलिस सब-इंस्पेक्टर ने अपनी पत्नी के साथ मारपीट की थी, तभी यह वीडियो शूट हुआ था। इसमें जो बुजुर्ग महिला नजर आ रही है, वह उसकी सास है।

Share
Next Story

फैक्ट चेक / मोदी के नाम से दीवाली की अपील वाला फर्जी पत्र वायरल, कई गलतियां है पत्र में, पीएम ने नहीं की ऐसी कोई अपील

Next

Dainik Bhaskar Brings you the latest Hindi News

Recommended News