फैक्ट चेक / पीएम ने दो मौकों पर इसरो चीफ को बंधाया था ढांढस, कैमरा देखकर रिएक्शन देने वाला वायरल दावा गलत

  • क्या वायरल:सोशल मीडिया परएक वीडियो वायरल हो रहा है। इसमें दावा किया जा रहा है कि पीएम ने कैमरे न होने पर इसरो चीफ को ढांढस नहीं बंधाया था। वहीं कैमरा होने पर गले लगा लिया
  • क्या सच: वायरल वीडियो दो हिस्सों को जोड़कर तैयार किया गया है। दूरदर्शन का पूरा प्रसारण देखने पर पता चला कि पीएम ने दोनों ही मौकों पर इसरो प्रमुख और वैज्ञानिकों को ढांढस बंधाया था

Dainik Bhaskar

Sep 10, 2019, 06:48 PM IST

फैक्ट चेक डेस्क. सोशल मीडिया में पीएम नरेंद्र मोदी और इसरो चीफ केवी सिवन का वीडियो यह कहकर वायरल किया जा रहा है कि, सिवन ने जब पीएम को विक्रम लैंडर के गुम होने की जानकारी दी तो उन्होंने न सिवन को गले लगाया और न ही उन्हें सांत्वना दी लेकिन जब दोनों कैमरे के सामने आए तो उन्हें गले लगाकर रो दिए। एक पाठक ने हमसे इस बात की पुष्टि जाननी चाही। पड़ताल में पता चला कि सोशल मीडिया में किया जा रहा दावा पूरी तरह गलत है। पीएम ने कैमरे के पीछे भी इसरो चीफ को उतना ही ढांढस बंधाया जितना कैमरे के सामने।

क्या वायरल

  • एक वीडियो वायरल किया जा रहा है। इसमें पीएम मोदी और इसरो चीफ के सिवन को दिखाया गया है।
  • वीडियो में एक तरफ 'ऑफ कैमरा रिएक्शन' लिखा है, जहां पीएम और सिवन आमने-सामने खड़े नजर आ रहे हैं। दूसरी तरफ 'ऑन कैमरा' लिखा है, इसमें पीएम सिवन को गले लगाते नजर आ रहे हैं।
  • ट्विटर पर इसे शेयर किया जा रहा है।
  • सोशल मीडिया पर कई लोगों ने इस वीडियो को शेयर किया है। इसमें उन्होंने लिखा है कि मीडिया और कैमरे आसपास न होने के कारण मोदी ने पहले सिवन को लौटा दिया था लेकिन कैमरों की मौजूदगी में उन्होंने सिवन को गले लगाकर सांत्वना दी।

क्या है सच्चाई

  • पड़ताल में पता चला कि पीएम मोदी ने दोनों मौकों पर इसरो प्रमुख के सिवन और वैज्ञानिकों की टीम को ढांढस बंधाया था। जब हमनेदूरदर्शन न्यूज का पूरा प्रसारण देखा तो सच्चाई सामने आई।
  • 6-7 सितंबर की दरमियानी दूरदर्शन ने रात साढ़े 12 बजे इसरो सेंटर से लाइव प्रसारण शुरू किया था। डीडी न्यूज की फुटेज के मुताबिक, पीएम मोदी लाइव प्रसारण शुरू के 23 मिनट बाद मिशन ऑपरेशन कॉम्पलेक्स में दाखिल हुए थे

  • चंद्रयान-2 मिशन की डायरेक्टर रितु करिदाल ने इसरो सेंटर के स्पीकर पर कहा था कि विक्रम लैंडर से कोई रिस्पॉन्स नहीं मिल रहा है। इसके कुछ मिनट बाद इसरो प्रमुख ने इसकी औपचारिक घोषणा की थी।
  • घोषणा के बाद पीएम कंट्रोल सेंटर में आए और उन्होंने इसरो प्रमुख सहित सभी वैज्ञानिकों को संबोधित किया और इसरो चीफ के सिवन का कंधा थपथपाते हुए कहा कि हौसला बनाए रखिए। अपने संबोधन में पीएम ने कहा कि, मैं पूरी तरह से आपके साथ हूं। हिम्मत के साथ चलें। इसके बाद वे चले गए थे।
  • वायरल वीडियो का दूसरा हिस्सा 7 सितंबर की सुबह 7 बजकर 5 मिनट का है। पीएम ने करीब 20 मिनट लंबा भाषण दिया। इस दौरान इसरो प्रमुख पीएम के पास ही खड़े थे।
  • दूरदर्शन न्यूज पर इस पूरे कार्यक्रम को लाइव प्रसारित किया गया था। इसमें दिखता है कि मिशन ऑपरेशन कॉम्पलेक्स के गेट पर पहुंचकर मोदी लौटते हैं और के सिवन के बारे में पूछते हैं। इसके बाद सिवन पीएम से कुछ कहते हैं जिस पर पीएम मोदी उन्हें गले लगा लेते हैं।
Share
Next Story

फैक्ट चेक / भ्रामक है कैरिपिल टेबलेट से 48 घंटे में डेंगू ठीक होने का दावा, डॉक्टर बोले- ऐसी वायरल जानकारी के चक्कर में न पड़ें

Next

Dainik Bhaskar Brings you the latest Hindi News

Recommended News