फैक्ट चेक / पुलिस की पिटाई वाला वीडियो वायरल लेकिन अवैध वसूली का इससे कोई लेनादेना नहीं

  • क्या वायरल : एक वीडियो। इसमें भीड़ कुछ पुलिसकर्मियों को पीटते नजर आ रही है। वीडियो के साथ लिखा गया है कि अवैध वसूली करने वाले पुलिसकर्मियों की जनता ने ऐसे पिटाई की
  • क्या सच : वायरल वीडियो गुजरात के वांकल का है। वहां सरकारी छात्रावास के छात्रों के साथ पुलिस की बहस हुई थी। तभी छात्रों ने रंगदारी का आरोप लगाते हुए पुलिसकर्मियों की पिटाई कर दी थी

Dainik Bhaskar

Sep 12, 2019, 01:12 PM IST

फैक्ट चेक डेस्क. सोशल मीडिया में एक मैसेज वायरल हो रहा है। इसमें दावा किया जा रहा है कि अवैध वसूली करने पर सूरत हाइवे पर पुलिसकर्मियों की जमकर पिटाई की गई। इसे कई यूजर्स ने फेसबुक पर शेयर किया है। एक पाठक ने हमें यह वायरल दावा पुष्टि के लिए भेजा। पड़ताल में इसकी सच्चाई सामने आई।

क्या वायरल

  • वहीं कुछ अन्य यूजर्स ने इसी वीडियो को रुड़की का बताते हुए शेयर किया है।
  • पड़ताल में पला चला कि ट्वीटर पर यह वीडियो जुलाई से ही वायरल हो रहा है।

क्या है सच्चाई

  • वीडियो में एक युवक नजर आ रहा है। उसकी टी-शर्ट पर 'गवर्नमेंट बॉयज हॉस्टल वांकल' लिखा नजर आ रहा है।

  • गूगल पर की-वर्ड सर्चिंग पर हमें कुछ गुजराती मीडिया आउटलेट्स की रिपोर्ट्स मिलीं।
  • रिपोर्ट्स के मुताबिक, सूरत जिले की मांगरोल तहसील के गांव वांकल में स्थित शासकीय बालक छात्रावास के छात्रों ने पुलिस पर अत्याचार का आरोप लगाते हुए विरोध प्रदर्शन किया था।
  • छात्रों का आरोप था कि हॉस्टल में क्रिकेट खेलने वाले छात्रों को पुलिसकर्मियों ने पीटा। इसी के बाद छात्रों का गुस्सा पुलिस पर टूट पड़ा था। कई मीडिया रिपोर्ट्स में यह मामला प्रकाशित किया गया था साथ ही इसका वीडियो भी वायरल हुआ था

  • पड़ताल से स्पष्ट होता है कि सोशल मीडिया में किया जा रहा दावा गलत है। जो वीडियो वायरल हो रहा है वो अवैध वसूली करने वाले पुलिसकर्मियों की पिटाई का
  • नहीं है बल्कि छात्रों के विरोध प्रदर्शन के दौरान हुई झड़प का है।
Share
Next Story

फैक्ट चेक / युवक की पिटाई करते हुए पुलिस का वीडियो वायरल, हेलमेट न पहनने नहीं बल्कि छेड़खानी से जुड़ा है मामला

Next

Dainik Bhaskar Brings you the latest Hindi News

Recommended News