Advertisement

Dainik Bhaskar Brings you the latest Hindi News

हादसा/ गैस गाेदाम के बाहर सिलेंडर में लगी आग, डिलिवरी ब्वॉय समेत 4 झुलसे

Dainik Bhaskar | Sep 12, 2018, 12:55 PM IST
-- पूरी ख़बर पढ़ें --

  • घायलों में शामिल मार्बल शोरूम के कर्मचारी का आरोप- अक्सर की जाती है गैस चोरी
  • डिलिवरी ब्वॉय ने कहा-लीकेज चेक करने के दौरान हुआ हादसा

Dainik Bhaskar

Sep 12, 2018, 12:55 PM IST

जालंधर।जालंधर में बुधवार सुबह एक गैस गोदाम के बाहर अचानक ब्लास्ट हो जाने से चार लोग झुलस गए। घायलों की मानें तोहादसा उस वक्त का बताया जा रहा है, जब यहां डिलिवरी से पहले गैस के सिलेंडरों से गैस चोरी की जा रही थी। हालांकि झुलसे लोगों में शामिल एजेंसी का डिलिवरी ब्वॉय कह रहा है कि एक कंज्यूमर के सिलेंडर की लीकेज चैक करते वक्त यह हादसा हुआ है। बहरहाल सभी घायल अस्पताल में भर्ती हैं और पुलिस मामले की जांच में जुटी है।

आरोप है, अक्सर निकाली जाती है यहां गैस

घटना देयोल नगर में सुबह करीब साढ़े 9 बजे घटी। इसमें झुलसे लोगों में से एक की पहचान यहां लोक सेवा गैस एजेंसी के डिलिवरी ब्वॉय संदीप के रूप में हुई है, जो खिंगरा गेट का रहने वाला है। इसके अलावा यहां गैस एजेंसी के गोदाम के पास बने क्वार्टर्स में रह रहे एक मां-बेटे समेत तीन लोग और भी घायल हुए हैं। इनमें लवली मार्बल शाॅप में काम करते उमेश की पत्नी सोनिया, लड़का अनिकेत और पड़ोसी मुखदेव (साथ काम करने वाला) हैं।

आज हुए इस हादसे के बारे में उमेश और उसका सहयोगी मुखदेव सीधे तौर पर गैस एजेंसी के कारिंदों पर गैस चाेरी का आरोप लगा रहे हैं। वहीं इनके साथ झुलसा डिलिवरी बाॅय संदीप इस बात से नकार रहा है। उसका कहना है कि एक कंज्यूमर का सिलेंडर लीक हो जाने की शिकायत थी और जब इसे चैक किया जा रहा था तो अचानक इसमें आग लग गई। दूसरी ओर उमेश की मानें तो यहां अक्सर गैस सिलेंडरों से गैस चोरी की जाती है। आज सुबह भी जब उसकी पत्नी क्वार्टर के बाहर खाना बना रही थी तो अचानक धमाका हुआ, जिसमें देखते ही देखते उसकी पत्नी सोनिया और बेटा अनिकेत झुलस गए। साथ ही उसके साथ काम करने वाला एक पड़ोसी मुखदेव भी झुलस गया। इसी तरह का बयान घायल मुखदेव ने भी दिया है। उसने बताया कि वह सुबह काम पर जाने से पहले फ्रैश हो रहा था तो वहां गैस एजेंसी का डिलिवरी ब्वॉय और उसके साथी कारिंदे सिलेंडरों से गैस इधर की उधर कर रहे थे। अचानक क धमाका हुआ और इससे पहले कि वह कुछ समझ पाता, वह भी आग की चपेट में आ गया। मुखदेव ने यह भी बताया कि गैस चोरी करने में इसतेमाल सिलेंडर यहां एक दीपू नामक लड़के के कमरे में रखे जाते हैं।

मामले की जांच में जुटी है पुलिस

उधर सूचना पाकर पुलिस भी मौके पर पहुंच गई थी, जिसने घटना की जांच-पड़ताल शुरू की और घायलों को अस्पताल में भर्ती कराया। इस बारे में एसीपी सर्बजीत राय ने बताया कि उन्हें देयोल नगर में एक गैस एजेंसी के गोदाम के बाहर आग लग जाने से चार लोगों के झुलसने की सूचना मिली थी। उन सभी को अस्पताल में भर्ती करा दिया गया है। उनका कहना है कि प्राथमिक जांच के दौरान गैस चोरी किए जाने की बात सामने आई है, बाकी मामले की जांच जारी है। जो भी दोषी होगा, उसके खिलाफ कार्रवाई जरूर की जाएगी।