Advertisement

Dainik Bhaskar Brings you the latest Hindi News

राजस्थान/ 30 में से 20 मंत्री हारे; दो ने बेटों को टिकट दिलाया, वे भी नहीं जीते

  • जसवंत यादव, श्रम मंत्री के बेटे मोहित बहरोड़ से हारे
  • नंदलाल, जनजाति मंत्री के बेटे हेमंत प्रतापगढ़ से हारे

Dainik Bhaskar

Dec 12, 2018, 02:00 AM IST

जयपुर. विधानसभा चुनावों में भाजपा के कांग्रेस से पिछड़ने के बीच वसुंधरा राजे का आधे से ज्यादा मंत्रिमंडल भी हार गया। राजे सहित 30 मंत्रियों (दो ने बेटों को टिकट दिलाया था) में से सिर्फ 8 ही दोबारा विधानसभा में पहुंचने में कामयाब हो पाए। इनमें 4 मंत्री वे भी हैं, जो टिकट नहीं मिलने पर भाजपा से बागी होकर मैदान में उतरे थे। कुल मिलाकर 12 कैबिनेट और 8 राज्यमंत्री हारे। मंत्रियों की हार में एंटीइनकमबेंसी सबसे बड़ा फैक्टर रहा। ज्यादातर मंत्रियों को टिकट दिए जाने का विरोध बीजेपी की रायशुमारी बैठकों में भी हुआ था। 
 

ये मंत्री सीट बचाने में रहे कामयाब
झालरापाटन से मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे, मालवीय नगर से चिकित्सा मंत्री कालीचरण सराफ, बाली से ऊर्जा राज्यमंत्री पुष्पेंद्र सिंह, अजमेर दक्षिण से महिला-बाल विकास मंत्री अनीता भदेल, अजमेर उत्तर से शिक्षा राज्य मंत्री वासुदेव देवनानी, चूरू से पंचायती राज मंत्री राजेंद्र राठौड़, राजसमंद से उच्च शिक्षा मंत्री किरण माहेश्वरी और गृह मंत्री उदयपुर शहर से गुलाबचंद कटारिया।

 

4 मंत्री और विधानसभा उपाध्यक्ष पर भारी पड़े निर्दलीय
राज्यमंत्री ओटा राम देवासी को निर्दलीय संयम लोढ़ा, राज्य मंत्री बंशीधर बाजिया को निर्दलीय महादेव सिंह, निर्दलीय कांतिप्रसाद ने कैबिनेट मंत्री हेम सिंह भडाना, बसपा के जोगिंदर सिंह अवाना ने राज्य मंत्री कृष्णेंद्र कौर दीपा, भारतीय ट्राइबल पार्टी के राजकुमार रोट ने राज्य मंत्री सुशील कटारा, निर्दलीय आलोक बेनीवाल ने विधानसभा उपाध्यक्ष राव राजेंद्र सिंह को शाहपुरा तथा राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी के पुखराज ने राज्य मंत्री कमसा को हराया है।

 

एंटीइनकमबेंसी सबसे बड़ा फैक्टर रहा

 

नाम     मंत्री रहे     हारे
अरुण चतुर्वेदी     सामाजिक न्याय     जयपुर
राजपाल सिंह     उद्योग     जयपुर
प्रभुलाल सैनी     कृषि मंत्री     अंता
यूनुस खान     परिवहन     टोंक
अजय सिंह     सहकारिता     डेगाना
राम प्रताप     जल संसाधन     हनुमानगढ़
गजेंद्र सिंह     वन मंत्री     लोहावट
श्रीचंद कृपलानी     यूडीएच         निंबाहेड़ा
बाबूलाल वर्मा     खाद्य     बारां-अटरू
अमराराम     राजस्व     पचपदरा
राज्य मंत्री
कृष्णेंद्र कौर     पर्यटन     नदबई
ओटाराम देवासी     गोपालन     सिरोही
सुशील कटारा     जलदाय     चौरासी
बंशीधर बाजिया     स्वास्थ्य     खंडेला
कमसा मेघवाल     जनजातीय     भोपालगढ़
सुरेंद्र पाल      खान           श्रीकरणपुर

 

4 मंत्री बागी बनकर उतरे, दो अपनों से हारे

राजकुमार रिणवा : देवस्थान राज्य मंत्री थे। रतनगढ़ से भाजपा के ही अभिनेष ने हराया। सुरेंद्र गोयल : पीएचईडी मंत्री थे। जैतारण से भाजपा के अविनाश ने हराया। हेम सिंह भड़ाना : सामान्य प्रशासन मंत्री थे। थानागाजी से उतरे। निर्दलीय कांति मीणा से हारे। धनसिंह रावत: पंचायतीराज राज्य मंत्री थे। बांसवाड़ा से कांग्रेस के अर्जुन सिंह ने मात दी।

Recommended