Quiz banner
Loading advertisement...

झालावाड़ संसदीय क्षेत्र में रेल सेवाओं के विस्तार के कई विषय उठाए

2 वर्ष पहले
Loading advertisement...
दैनिक भास्कर पढ़ने के लिए…
ब्राउज़र में ही
कोटा मंडल क्षेत्र में आने वाले सांसदों की पश्चिम मध्य रेलवे महाप्रबंधक के साथ बैठक में बारां-झालावाड़ संसदीय क्षेत्र से जुडे़ हुए मुद्दों को सांसद दुष्यंतसिंह के प्रतिनिधि के रूप में उत्तर पश्चिम रेलवे के क्षेत्रीय सलाहकार समिति सदस्य धीरज गुप्ता ने पुरजोर तरीके से उठाया। गुप्ता ने बैठक में नई ट्रेनों के संचालन एवं विस्तार, क्षेत्र में जन आकांक्षाओं के अनुरूप महत्त्वपूर्ण ट्रेनों के ठहराव सहित अन्य विषयों को रखा।

सांसद प्रतिनिधि धीरज गुप्ता ने बताया कि श्रीगंगानगर-झालावाड़ सिटी ट्रेन को नियमित करने की मांग पर महाप्रबंधक अजय विजयवर्गीय ने कहा कि झालावाड़ सिटी में अनुरक्षण के लिए टर्मिनल सेवाएं विकसित होने के बाद यह सम्भव हो सकेगा। फिलहाल इस ट्रेन के अनुरक्षण के लिए उत्तर पश्चिम रेलवे को प्रस्ताव भेजा गया है। महाप्रबंधक ने यह भी बताया कि झालावाड़ से जोधपुर व बाड़मेर के लिए नई ट्रेन के संचालन के प्रस्ताव सांसद सिंह की मांग पर रेलवे बोर्ड को भेजे जा चुके हैं। उन्होंने बताया कि झालरापाटन तक ट्रेनों का संचालन शुरू करने की प्रक्रिया चल रही है। क्षेत्र में भारी बरसात के कारण कुछ व्यवधान रहा है, लेकिन बहुत जल्दी यहां तक ट्रेनें संचालित होने लगेगी।

उन्होंने बताया कि भवानीमंडी में जम्मूतवी, अहमदाबाद, जामनगर, जम्मूतवी, कोच्चूवेली, देहरादून, मरूसागर, त्रिवेंद्रम एक्सप्रेस, चौमहला में बीकानेर-बिलासपुर व जयपुर-चैन्नई एक्सप्रेस ट्रेनों के ठहराव की मांग की गई। इसी प्रकार सालपुरा में कोटा-इंदौर इंटरसिटी, बारां में भागलपुर, अजमेर एक्सप्रेस ट्रेन के ठहराव तथा कोटा, बीना रेल खंड पर दिन के समय एक नई ट्रेन के संचालन की मांग उठाई गई। सांसद की ओर से अंता में रेलवे फाटक सं. 21 पर आरओबी निर्माण की मांग भी उठाई गई है। जवाब में बताया गया है कि राज्य सरकार की ओर से प्रस्ताव प्र्राप्त होने पर इस दिशा में कार्रवाई की जा सकेगी।

सांसद सिंह की ओर रतलाम-कोटा, कोटा-जयपुर व जयपुर-फुलेरा के बीच अलग-अलग नम्बरों से पैसेंजर व एक्सप्रेस के रूप में चलाई जा रही एक ही ट्रेन से यात्रियों को टिकटिंग में होने वाली परेशानियों का मुद्दा प्रभावी ढंग से रखा गया। बताया गया कि उदाहरण के तौर पर फुलेरा से भवानीमंडी या चौमहला आने वाले यात्री को पहले जयपुर तक पैसेंजर फिर जयपुर से कोटा तक एक्सप्रेस और कोटा से आगे वापस पैसेंजर का टिकट लेना पड़ेगा। यदि कोई यात्री जयपुर से सीधी भवानीमंडी पहुंचने वाली एक्सप्रेस ट्रेन के थर्ड एसी में यात्रा करना चाहता है तो उसे 630 रुपए का भुगतान करना होगा। लेकिन जयपुर से कोटा ट्रेन नं. 19808 में 495 रुपए और आगे भवानीमंडी तक यात्रा के लिए उसे ट्रेन नं. 59804 में 495 रुपए और का टिकट लेना पड़ेगा। यानि यात्री को जयपुर से कोटा तक 239 किमी की यात्रा के बराबर की राशि कोटा से भवानीमंडी तक 100 किमी पैसेंजर ट्रेन में यात्रा के लिए 495 रुपए और कुल 990 रुपए किराए का भुगतान करना होगा।

गुप्ता ने कहा कि यात्री सुविधाओं के दृष्टिगत यह व्यवस्था किसी भी रुप में उचित प्रतीत नहीं होती है। इस ट्रेन को पुनः एकीकरण करते हुए किसी एक ही श्रेणी में संचालित करने की आवश्यकता है। इस पर महाप्रबंधक ने गंभीरता से विचार करते हुए यात्रियों के हित में कार्रवाई का आश्वासन दिया है।

बैठक में माैजूद क्षेत्रीय सलाहकार समिति सदस्य।

Loading advertisement...
खबरें और भी हैं...