Advertisement

Dainik Bhaskar Brings you the latest Hindi News

रामचरित मानस/ वनवास से लौटकर भगवान राम ने कर दिया था लक्ष्मण का बहिष्कार

Dainik Bhaskar | Sep 11, 2018, 01:23 PM IST

रिलिजन डेस्क. भगवान राम को मर्यादा पुरुषोत्तम कहा जाता है। हिन्दू धर्म के ग्रंथों के अनुसार राम जी को विष्णु के 10 अवतारों में से सातवां अवतार माना जाता है। अपने पिता के वचन को पूरा करने के लिए उन्होने 14 साल वनवास किया था। इनके साथ उनके प्रिय अनुज लक्ष्मण और माता सीता भी वनवास पर गईं थीं। लक्ष्मण को भगवान अपने प्राणों से भी ज्यादा स्नेह करते थे लेकिन इसके बावजूद भी उन्होने लक्ष्मण को मृत्युदंड की सजा सुनाई। इस बारें में वाल्मीकी मे रामचरित मानस में बताया है।