पूजन / इस विधि से करें विसर्जन से पूर्व दुर्गा प्रतिमा का पूजन, ये हैं शुभ मुहूर्त

Dainik Bhaskar

Oct 18, 2018, 01:11 PM IST

रिलिजन डेस्क. 18 अक्टूबर को नवरात्र का समापन है इसके बाद 19 अक्टूबर को माता कर प्रतिमा का विसर्जन किया जाएगा। इसे दौरान धूमधाम से पूरे देश में चल समारोह निकाले जाएंगे। माता के विसर्जन से पहले माता की विशेष पूजा-अर्चना की जाती है। आइए जाने इसकी पूजन विधि और मुहूर्त...

माता की प्रतिमा का गंध, चावल, फूल, आदि से पूजा करें तथा इस मंत्र से देवी की आराधना करें।
रूपं देहि यशो देहि भाग्यं भगवति देहि मे।
पुत्रान् देहि धनं देहि सर्वान् कामांश्च देहि मे।।
महिषघ्नि महामाये चामुण्डे मुण्डमालिनी।
आयुरारोग्यमैश्वर्यं देहि देवि नमोस्तु ते।।

इस प्रकार प्रार्थना करने के बाद हाथ में चावल व फूल लेकर देवी भगवती का इस मंत्र के साथ विसर्जन करना चाहिए-
गच्छ गच्छ सुरश्रेष्ठे स्वस्थानं परमेश्वरि।
पूजाराधनकाले च पुनरागमनाय च।।

इस प्रकार पूजा करने के बाद दुर्गा प्रतिमा का विसर्जन कर देना चाहिए, लेकिन जवारों को फेंकना नही चाहिए। उसको परिवार में बांटकर सेवन करना चाहिए। इससे नौ दिनों तक जवारों में व्याप्त शक्ति हमारे भीतर प्रवेश करती है। माता की प्रतिमा, जिस पात्र में जवारे बोए गए हो उसे तथा इन नौ दिनों में उपयोग की गई पूजन सामग्री का श्रृद्धापूजन विसर्जन कर दें।

Share
Next Story

नवरात्र / कैसे करें व्रत-उपवास और माता जी की पूजा, इन बातों का रखें ध्यान

Next

Dainik Bhaskar Brings you the latest Hindi News