उपलब्धि / दिव्यांग सत्येंद्र ने 11 घंटे 33 मिनट में कैटलीना चैनल पार कर रिकॉर्ड बनाया, ऐसा करने वाले पहले एशियाई

कैटलीना चैनल पार करने वाले पैरा स्विमर सत्येंद्र ने बनाया रिकॉर्ड।

  • सत्येंद्र के नेतृत्व में इंडियन पैरा रिले टीम ने कैटलीना चैनल पार कर बनायाएशियाईरिकॉर्ड
  • सत्येंद्र और उनकी टीम ने इससे पहले 2017 में इंग्लिश चैनल पार किया था

Dainik Bhaskar

Aug 20, 2019, 04:01 PM IST

खेल डेस्क. भारतीय पैरा स्विमर सत्येंद्र सिंह लोहिया(32) ने अमेरिका में 42 किलोमीटर लंबे कैटलीना चैनल को पार कर नया इतिहास रच दिया। ऐसा करने वाले वे एशिया के पहले दिव्यांग तैराक हैं। सत्येंद्र की टीम में पांच अन्य खिलाड़ी थे। टीम ने कैटालिना चैनल को 11 घंटे 33 मिनट के समय में पार किया है। सत्येंद्र मध्यप्रदेश के ग्वालियर के रहने वाले हैं।

सत्येंद्र ने सोमवार सुबह 10.57 बजे से सेंट कैटलीना आइसलैंड से तैरनाशुरू किया था, जो देर रात 10:30 बजे लॉस एंजिल्स में खत्म हुआ। इसके पहले वह 2017 में इंग्लिश चैनल पार कर चुके हैं। तब भी ऐसा करने वाले वह देश के पहले पैरा स्विमर बने थे। भिंड जिले के गाता गांव के रहने वाले सत्येंद्रने गांव की वेसली नदी में तैराकी सीखी। वह दोनों पैरों से दिव्यांग हैं।

ग्वालियर में तैराकी को हुनर बनाया
ग्वालियर में सत्येंद्र ने तैराकी की तकनीक सीखी और फिर इसे अपना हुनर बना लिया। वर्तमान में वह इंदौर में सरकारी नौकरी कर रहे हैं। इससे पहले सत्येंद्र ने पहले नेशनल तैराकी में बाजी मारी थी। उन्हें मध्यप्रदेश के विक्रम अवार्ड से भी नवाजा जा चुका है।

कैटलीना चैनल पार करना बेहद मुश्किल
सत्येंद्र ने कहा था कि कैटलीना चैनल पार करना बेहद मुश्किल है। दिन में चलने वाली तेज हवाओं से बचने के लिए रात में तैराकी शुरू करनी पड़ती है। इसमें गहराई का भी अंदाज नहीं लगता और भी कई तरह की चुनौतियां होती हैं, लेकिन सत्येंद्र ने इन सभी चुनौतियों को पारकर सफलता का नया कीर्तिमान रच दिया है।

सत्येंद्र सिंह लोहिया।
सत्येंद्र सिंह अपनी पैरा स्विमिंग टीम के साथ।
Share
Next Story

अमेरिका / बराक ओबामा की हाई स्कूल की 39 साल पुरानी बास्केटबॉल जर्सी 85 लाख रु. में बिकी

Next

Dainik Bhaskar Brings you the latest Hindi News

Recommended News