Advertisement

Dainik Bhaskar Brings you the latest Hindi News

पुलवामा हमले का असर/ सरकार ने मना किया तो वर्ल्ड कप में पाक से नहीं खेलेगा भारत: बीसीसीआई

Dainik Bhaskar | Feb 20, 2019, 11:25 AM IST
भारत-पाक की टीमें पिछली बार आईसीसी टूर्नामेंट में चैंपियंस ट्रॉफी के दौरान आमने-सामने हुईं थी।
-- पूरी ख़बर पढ़ें --

  • इंग्लैंड और वेल्स में 30 मई से 14 जुलाई तक वर्ल्ड कप के मैच खेले जाएंगे
  • राउंड रॉबिन दौर में भारत-पाकिस्तान का मैच 16 जून को खेला जाएगा

Dainik Bhaskar

Feb 20, 2019, 11:25 AM IST

खेल डेस्क. पुलवामा हमले के बाद भारत-पाकिस्तान के बीच वर्ल्ड कप में होने वाले मुकाबले को लेकर संशय बरकरार है। बीसीसीआई सूत्रों के मुताबिक, "इसे लेकर कुछ समय बाद स्थिति स्पष्ट हो जाएगी। अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) का इससे कोई लेना-देना नहीं है। अगर हमारी सरकार को लगता है कि हमें पाक से नहीं खेलना चाहिए, तो जाहिर है कि हम नहीं खेलेंगे।" इंग्लैंड और वेल्स में 30 मई से 14 जुलाई तक वर्ल्ड कप के मैच खेले जाएंगे।

सूत्रों के मुताबिक, "अगर पाकिस्तान से मैच नहीं होता है तो उसे अंक मिल जाएंगे। वहीं, फाइनल में भारत-पाक का सामना हुआ और टीम इंडिया नहीं खेली तो पाकिस्तानी टीम बिना खेले ही चैम्पियन बन जाएगी।"भारत-पाक की टीमें पिछली बार आईसीसी टूर्नामेंट में चैंपियंस ट्रॉफी के दौरान आमने-सामने हुई थीं। तब फाइनल जीतकर पाक टीम चैम्पियन बनी थी।

मैच नहीं खेलने को लेकर कोई सूचना नहीं मिली: आईसीसी
दूसरी ओर, आईसीसी के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) डेव रिचर्डसन ने इस मामले पर ईएसपीएन क्रिकइन्फोसे बात की। उन्होंने कहा, "हमें अभी तक दोनों बोर्ड की ओर से मैच नहीं खेलने को लेकर कोई सूचना नहीं मिली है। साथ ही हमने भी दोनों बोर्ड को इस मामले में कुछ नहीं लिखा।"

हमारी संवेदनाएं पीड़ितों के साथ: रिचर्डसन
रिचर्डसन ने कहा, "हमारी संवेदनाएं इस घटना से प्रभावित हुए लोगों के साथ है। हम बीसीसीआई और पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (पीसीबी) सहित अपने सदस्यों के साथ स्थिति पर नजर बनाए हुए हैं। फिलहाल वर्ल्ड कप के तय कार्यक्रम के अनुसार भारत-पाक मैच सहित किसी भी अन्य मुकाबले के नहीं खेले जाने के कोई संकेत नहीं है।"

भारत-पाक मैच के टिकट के लिए फाइनल से भी ज्यादा आवेदन मिले

रिचर्डसनने कहा, "भारत-पाक मैच के टिकट के लिए सबसे ज्यादा चार लाख आवेदन मिल चुके हैं। हालांकि, ओल्ड ट्रैफर्ड (मैनचेस्टर) की दर्शक क्षमता सिर्फ 25 हजार है। इससे कई लोगों को निराशा होगी। दर्शक सिर्फ इंग्लैंड से ही नहीं, बल्कि अन्य देशों से भी यह मैच देखने आने वाले हैं। ऑस्ट्रेलिया-इंग्लैंड मैच के टिकट के लिए ढाई लाख और फाइनल मुकाबले के लिए 2 लाख 60 हजार से ज्यादा आवेदन मिले हैं।"

डेविड रिचर्डसन, मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ)।