पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

आईपीएल फ्रेंचाइजियों की मांग:यूएई में खिलाड़ियों के लिए 6 की बजाए 3 दिन का हो क्वारैंटाइन पीरियड, परिवार के साथ डिनर और बाहर से कॉन्टैक्ट लेस तरीके से खाना मंगाने की इजाजत मिले

2 महीने पहले
फ्रेंचाइजियों ने बोर्ड से कहा है कि खिलाड़ियों के परिवार और ओनर के लिए बायो सिक्योर बबल में 3 महीने तक रहना मुश्किल होगा। ऐसे में क्या इनके लिए मेडिकल एक्सपर्ट की सलाह पर अलग से प्रोटोकॉल बनाया जा सकता है। -फाइल
  • फ्रेंचाइजियों ने बोर्ड से पूछा है कि क्या टीमों को 20 की बजाए 15 अगस्त के बाद ही यूएई जाने की अनुमति दी जा सकती है?
  • आईपीएल टीमें चाहती हैं कि ऑस्ट्रेलिया-इंग्लैंड सीरीज और कैरेबियन प्रीमियर लीग में शामिल खिलाड़ी जल्दी टीम के साथ जुड़ें
  • ऑस्ट्रेलिया-इंग्लैंड सीरीज 16 और सीपीएल 10 सितंबर को खत्म होगी, आईपीएल 19 सितंबर से शुरू होगा
No ad for you

आईपीएल टीमें यूएई में 6 की बजाए तीन दिन का क्वारैंटाइन में रहना चाहती हैं और लीग के दौरान फैमिली, टीम के साथ डिनर के लिए भी बीसीसीआई से मंजूरी मांगी है। बीसीसीआई ऑफिशियल ने न्यूज एजेंसी को बताया कि इस मसले पर बुधवार शाम को फ्रेंचाइजियों और आईपीएल ऑफिशियल्स के बीच मीटिंग होगी।

बीसीसीआई ने आईपीएल टीमों के लिए स्टैंडर्ड ऑपरेटिंग प्रोसिजर का जो ड्राफ्ट तैयार किया है, उसके मुताबिक खिलाड़ियों और सपोर्ट स्टाफ की यूएई में क्वारैंटाइन होने के दौरान पहले, तीसरे और छठे दिन कोरोना जांच की जाएगी। इसकी रिपोर्ट निगेटिव आने के बाद ही उन्हें प्रैक्टिस की मंजूरी दी जाएगी। इसके बाद 53 दिन तक चलने वाले इस टूर्नामेंट में हर पांचवें दिन खिलाड़ियों की जांच होगी।

फ्रेंचाइजियों ने बोर्ड से पूछा- क्या क्वारैंटाइन पीरियड कम हो सकता है?

बीसीसीआई ऑफिशियल के मुताबिक, ज्यादातर खिलाड़ियों ने लॉकडाउन के कारण 6 महीने से क्रिकेट नहीं खेला है, वे ज्यादा प्रैक्टिस करना चाहते हैं। ऑफिशियल ने बताया कि इस मामले पर एक फ्रेंचाइजी ने बीसीसीआई से पूछा है कि कि क्या मेडिकल एक्सपर्ट की सलाह के आधार पर हम क्वारैंटाइन पीरियड को 6 की बजाए तीन दिन का कर सकते हैं। क्या खिलाड़ियों को ‘बायो बबल' में प्रैक्टिस की मंजूरी दी जा सकती है?

टीमों ने 20 अगस्त से पहले यूएई जाने की इजाजत मांगी

बीसीसीआई ने टीमों को 20 अगस्त के बाद ही यूएई रवाना होने के लिये कहा है। लेकिन चेन्नई सुपर किंग्स समेत कुछ टीमें जल्दी जाना चाहती थीं। इस मामले पर भी फ्रेंचाइजी ने बोर्ड से पूछा है कि क्या टीमों को 20 की बजाए 15 अगस्त के बाद यूएई जाने की अनुमति दी जा सकती है। ताकि उन्हें प्रैक्टिस और माहौल के हिसाब से ढलने का पूरा समय मिल सके।

फ्रेंचाइजी बायो सिक्योर बबल की समीक्षा चाहती है

बीसीसीआई ने टीमों के लिए एसओपी का जो ड्राफ्ट तैयार किया है, उसमें खिलाड़ियों के परिवार और टीम मालिकों को भी बायो सिक्योर बबल में ही रहना होगा। टीमें चाहती है कि बीसीसीआई इस क्लॉज की समीक्षा करे।

ओनर 3 महीने बायो सिक्योर बबल में नहीं रह सकते

एसओपी के मुताबिक, टीम ओनर और खिलाड़ियों के परिवार के लोग भी तब तक उनसे बात नहीं कर सकेंगे, जब तक वे बायो सिक्योर बबल का हिस्सा नहीं होंगे। लेकिन फ्रेंचाइजियों का कहना है कि ओनर और फैमिली तीन महीने तक इस बबल में नहीं रह सकते हैं। ऐसे में उन्होंने बोर्ड से पूछा है कि क्या मेडिकल सलाह के आधार पर मालिकों और परिवार के लिए अलग से प्रोटोकॉल बनाया जा सकता है?

विदेशी खिलाड़ियों को टीमें अपने साथ जल्दी जोड़ना चाहती हैं

आईपीएल टीमें यह भी चाहती हैं कि इंग्लैंड-ऑस्ट्रेलिया सीरीज और कैरेबियन प्रीमियर लीग में शामिल खिलाड़ियों को जल्दी लीग से जुड़ने का मौका मिले। इंग्लैंड-ऑस्ट्रेलिया के बीच वनडे सीरीज 16 सितंबर को खत्म होगी और इसके तीन दिन बाद ही आईपीएल शुरू होगा। दोनों टीमों के खिलाड़ी 16 को या फिर अगले दिन लंदन से दुबई के लिए रवाना होंगे।

यूएई पहुंचने के बाद वहां की सरकार के नियमों के अनुसार, उन्हें कोरोना टेस्ट कराना होगा। अगर उनका टेस्ट निगेटिव आया, तभी वे आइसोलेशन जोन से बाहर निकल सकेंगे। लीग में ऑस्ट्रेलिया के 17 और इंग्लैंड के 13 खिलाड़ियों को हिस्सा लेना है।

No ad for you

क्रिकेट की अन्य खबरें

Copyright © 2020-21 DB Corp ltd., All Rights Reserved