क्रिकेट / बैन के बाद वापसी करने वाले पृथ्वी शॉ का अर्धशतक; दर्शकों की तरफ इशारा करने पर ट्रोल हुए

असम के खिलाफ टी20 अर्धशतक लगाने के बाद पृथ्वी शॉ।

  • शॉ पर प्रतिबंधित दवा लेने की वजह से 8 महीने का बैन लगा था, रविवार को उन्होंने मुंबई टीम में वापसी की
  • असम के खिलाफ 63 रन बनाए, अर्धशतक पूरा करने के बाद उनका स्टैंड्स की तरफ इशारा फैन्स को रास नहीं आया

Dainik Bhaskar

Nov 18, 2019, 12:26 PM IST

खेल डेस्क. प्रतिबंधित दवा के सेवन की वजह से 8 महीने का बैन झेलने वाले पृथ्वी शॉ की मुंबई टीम में वापसी हो गई। रविवार को उन्होंने असम के खिलाफ 39 गेंद पर 63 रन की पारी खेली। इसके बाद दर्शक दीर्घा की तरफ बल्ला दिखाते हुए हाथ से इशारा किया। वो ये कहना चाहते थे कि उनका बल्ला बोलता है। बहरहाल, इस युवा बल्लेबाज का यह अंदाज क्रिकेट फैन्स को अहंकार की तरह दिखा और इसे पसंद नहीं किया गया। ट्विटर पर कई लोगों ने शॉ को नसीहत भी दी।

मुश्ताक अली ट्रॉफी से वापसी
शॉ को मार्च में प्रतिबंधित दवा के सेवन की वजह से 8 महीने के लिए बैन किया गया था। रविवार को मुंबई के तरफ से असम के खिलाफ उन्होंने वापसी की। टी20 मैच में उन्होंने 39 गेंद पर 63 रन की पारी खेली। 7 चौके और 2 छक्के लगाए। बीसीसीआई ने अपने ट्विटर हैंडल पर इसका ट्वीट भी किया। अर्धशतक पूरा करने के उन्होंने अभिवादन के लिए बैट उठाया और दर्शकों की तरफ हाथ से इशारा किया। संभवत: वो ये कहना चाहते थे कि अब वो नहीं, उनका बल्ला बोलेगा। कुछ वक्त पहले विराट कोहली ने भी ऑस्ट्रेलिया में इसी तरह का इशारा किया था। शॉ का अंदाज कोहली से जोड़कर देखा गया। हालांकि, दोनों की तुलना किसी भी रूप में नहीं की जा सकती।

अति आत्मविश्वास का शिकार
शुभम ने ट्वीट किया, “युवा खिलाड़ियों के साथ यही दिक्कत है। बैन के बाद कमजोर टीम के खिलाफ वापसी करते हुए अर्धशतक लगाना और फिर इस तरह का इशारा करना। शॉ को नम्रता सीखनी चाहिए। अंतराष्ट्रीय क्रिकेट में इस तरह का अति आत्मविश्वास नहीं चलता। मेरे शब्दों को याद रखना पृथ्वी।” एक अन्य यूजर ने भी कमोबेश यही सीख दी। कहा, “असम के खिलाफ थी आपकी यह पारी और यह अंदाज। जब इंटरनेशनल क्रिकेट में वापसी करेंगे तो कई शून्य मिलेंगे। याद रखिए, जब बल्ला बोलता है तो फिर मुंह से कुछ बोलने की आवश्यकता नहीं होती।” शॉ अगले विनोद कांबली
एक अन्य यूजर भी इस युवा बल्लेबाज से काफी खफा नजर आए। उन्होंने शॉ की तुलना मुंबई के पूर्व टेस्ट क्रिकेटर और सचिन तेंडुलकर के दोस्त विनोद कांबली से कर दी। कहा, “पृथ्वी को कुछ ज्यादा ही भाव दिया जा रहा है। वो तो अगले कांबली हैं। यही अहंकार और अंदाज जारी रहा तो बाहर कर दिए जाएंगे।” एक अन्य यूजर ने शॉ के साथ विराट कोहली की उस तस्वीर को शेयर किया जिसमें कोहली ने भी आलोचना के बाद मैदान पर यही इशारा किया था।

Share
Next Story

भास्कर एनालिसिस / हमारे तेज गेंदबाज टेस्ट इतिहास में इस साल सबसे सफल, हर 34वीं बॉल पर ले रहे हैं विकेट

Next

Dainik Bhaskar Brings you the latest Hindi News

Recommended News