बीसीसीआई / श्रीसंत को मिली आजीवन प्रतिबंध की सजा 7 साल हुई, अगस्त 2020 में फिर खेल सकेंगे

एस. श्रीसंत। -फाइल फोटो

  • सुप्रीम कोर्ट ने 15 मार्च को श्रीसंत पर लगे आजीवन प्रतिबंध को खत्म कर दिया था
  • श्रीसंत पर मई 2013 में आईपीएल के एक मैच के दौरान स्पॉट फिक्सिंग का आरोप लगा था

Dainik Bhaskar

Aug 20, 2019, 05:45 PM IST

खेल डेस्क. भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) ने क्रिकेटर एस. श्रीसंत (36) पर लगे आजीवन प्रतिबंध को घटाकर 7 साल कर दिया है। यह प्रतिबंध अगस्त 2020 में खत्म होगा। यह फैसला बीसीसीआई के लोकपाल रिटायर्ड जस्टिस डीके जैन ने लिया है। आईपीएल में स्पॉट फिक्सिंग के चलते 13 सितंबर 2013 को बीसीसीआई की अनुशासनात्मक समिति ने श्रीसंत पर आजीवन प्रतिबंध लगाया था।

श्रीसंत ने सभी आरोपों को गलत बताया था

  1. सुप्रीम कोर्ट ने 15 मार्च को तेज गेंदबाज पर लगे आजीवन प्रतिबंध को समाप्त कर दिया था। अदालत ने बीसीसीआई लोकपाल से तीन महीने के भीतर श्रीसंत की सजा का पुन:निर्धारण करने के लिए कहा था। मामले को जस्टिस डीके जैन ही देख रहे थे।

  2. लोकपाल ने कहा कि श्रीसंत 6 साल की सजा काट चुके हैं। वे अपनी तीस साल की उम्र पार कर चुके हैं। अब उनकी सजा कम कर देनी चाहिए। अगले साल उनकी सजा खत्म हो जाएगी, लेकिन मुझे नहीं लगता कि वे इस उम्र में क्रिकेट में वापसी कर पाएंगे।

  3. श्रीसंत पर मई 2013 में आईपीएल के एक मैच के दौरान स्पॉट फिक्सिंग का आरोप लगा था। तब वे आईपीएल टीम राजस्थान रॉयल्स की ओर से खेल रहे थे। हालांकि, श्रीसंत ने इन सभी आरोपों को गलत बताया था।

  4. दिल्ली पुलिस ने मई 2013 में श्रीसंत के साथ उनकी टीम के साथी अंकित चह्वाण और अजीत चंदेलिया को गिरफ्तार किया था। तीनों के खिलाफ महाराष्ट्र कंट्रोल ऑफ ऑर्गनाइज्ड क्राइम एक्ट (मकोका) के तहत मामला दर्ज किया गया था।

  5. श्रीसंत ने अपने क्रिकेट करियर में अब तक 27 टेस्ट में 37.59 की औसत से 87 विकेट, जबकि 53 वनडे में 33.44 की औसत से 75 विकेट हासिल किए। इसके अलावा तेज गेंदबाज ने 10 अंतरराष्ट्रीय टी-20 में 41.14 की औसत से 7 विकेट लिए।

Share
Next Story

क्रिकेट / पाक क्रिकेटर हसन अली और भारत की सामिया से आज करेंगे निकाह, प्री वेडिंग शूट कराया

Next

Dainik Bhaskar Brings you the latest Hindi News