विवाद / मैच फिक्सिंग से निपटने के लिए श्रीलंका ने भारत से मांगी मदद

अर्जुन रणतुंगा, पेट्रोलियम मंत्री, श्रीलंका सरकार। -फाइल फोटो

  • भारत का केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) करेगा जांच में मदद
  • श्रीलंका के पास फिक्सिंग से निपटने के लिए कानून नहीं

Dainik Bhaskar

Oct 22, 2018, 07:34 PM IST

कोलंबो. श्रीलंका ने देश में मैच फिक्सिंग से जुड़े मामलों को निपटाने के लिए भारत से मदद मांगी है। श्रीलंका सरकार में कैबिनेट मंत्री और पूर्व कप्तान अर्जुन रणतुंगा ने कहा, "श्रीलंका में फिक्सिंग से जुड़े मामलों की जांच और इससे संबंधित कानूनी मसौदा बनाने में भारत उनकी मदद करेगा।

श्रीलंका के पेट्रोलियम मंत्री रणतुंगा ने कहा, "भारत का केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) श्रीलंका में बड़े पैमाने पर लगे भ्रष्टाचार के आरोपों की जांच में मदद करेगा। हमारे पास इस समस्या से निपटने के लिए कोई विशेषज्ञ या कानून नहीं है।"

रणतुंगा पर सीबीआई ने लगाए थे फिक्सिंग के आरोप: श्रीलंका ने भ्रष्टाचार के मामले उजागर होने के बाद यह कहा था कि जांच के लिए एक विशेष पुलिस यूनिट का गठन होगा। सीबीआई ने साल 2000 में रणतुंगा और अरविंद डी सिल्वा पर फिक्सिंग का आरोप लगाया था, लेकिन बाद में दोनों को आरोपमुक्त कर दिया गया था। हाल ही में पूर्व कप्तान सनथ जयसूर्या पर आईसीसी ने फिक्सिंग से जुड़े मामले में सहयोग नहीं देने का आरोप लगाया था।

गाले मैदान के ग्राउंड्समैन पर लगा था प्रतिबंध: गाले मैदान के ग्राउंड्समैन थरंगा इंडिका और क्रिकेटर थरींडू मेंडिस पर फिक्सिंग के आरोप लगे थे। दोनों पर लगा था कि उन्होंने इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट के चौथे दिन मेजबान टीम को फायदा देने के लिए पिच बनाया था। दोनों को श्रीलंका क्रिकेट ने प्रतिबंधित कर दिया। इस मामले में प्रोविंसियल कोच जीवंता कुलतुंगा पर भी प्रतिबंध लगा था।

Share
Next Story

क्रिकेट / भारत ने वेस्टइंडीज को पहले वनडे में हराया, पूरे स्कोरकार्ड के लिए क्लिक करें

Next

Dainik Bhaskar Brings you the latest Hindi News