पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

सख्ती:कोरोना पॉजिटिव बीमाधारकों के कैशलेस ट्रीटमेंट से मना नहीं कर सकेंगे हॉस्पिटल, इनकार करने पर होगी कार्रवाई

नई दिल्ली23 दिन पहले
इरडा के निर्देश अनुसार सभी स्वास्थ्य बीमा कंपनियों ने एक स्टैंडर्ड कोविड-19 हेल्थ इंश्योरेंस प्लान 'कोरोना कवच' लॉन्च किया है
  • इंश्योरेंस रेगुलेटरी एंड डेवलपमेंट अथॉरिटी ने इसके लिए निर्देश जारी किए हैं
  • कोरोना मरीजों को देखते हुए बीमा कंपनियों को ऐसे अस्पतालों पर कार्रवाई करने को कहा है
No ad for you

अब अगर कोई अस्पताल किसी बीमाधारक को कैशलेस ट्रीटमेंट की सुविधा देने से मना करता है तो उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। इंश्योरेंस रेगुलेटरी एंड डेवलपमेंट अथॉरिटी (इरडा) ने कोरोना मरीजों को देखते हुए बीमा कंपनियों को ऐसे अस्पतालों के खिलाफ कार्रवाई करने को कहा है जो हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी धारक कोविड-19 मरीजों को कैशलेस इलाज की सुविधा देने से मना कर रहे हैं।

बीमा कंपनियों के साथ समझौते के बावजूद इलाज से इनकार करने वाले ऐसे अस्पतालों के खिलाफ शिकायतों का हवाला देते हुए इरडा ने बीमाकर्ताओं से उचित सरकारी एजेंसी में शिकायत करने को कहा है। 

वेबसाइट पर डाले कार्रवाई का ब्यौरा 

इरडा ने बीमाकर्ताओं से ऐसे अस्पतालों के खिलाफ की गई कार्रवाई की जानकारी अपनी वेबसाइट पर भी देने करने को कहा है। बीमा कंपनियों को कोविड-19 के लिए कैशलेस ट्रीटमेंट से संबंधित शिकायतों की सुनवाई और उसके हल के लिए अगल व्यवस्था करने को कहा है।

अगर अस्पताल कैशलेस इलाज से इनकार करे तो पॉलिसीधारक क्या करे?
इरडा के अनुसार अगर किसी पॉलिसीधारक को कोई अस्पताल जो बीमा कंपनी की लिस्ट में हो, कैशलेस ट्रीटमेंट के लिए मना करता है तो बीमाधारक इसकी शिकायत "उपयुक्त सरकारी एजेंसियों" में करना चाहिए। इसके अलावा बीमाधारक बीमा कंपनी को शिकायत भेज सकते हैं। ऐसे अस्पताल पर तुरंत कार्रवाई की जाएगी।

10 जुलाई को लॉन्च हुई 'कोरोना कवच' पॉलिसी
इरडा ने सभी स्वास्थ्य बीमा कंपनियों से अनिवार्य रूप से उपभोक्ताओं के लिए एक स्टैंडर्ड व्यक्तिगत कोविड-19 हेल्थ इंश्योरेंस प्लान 'कोरोना कवच' लाने को कहा था जो केवल कोविड-19 के लिए है। 'कोरोना कवच' पॉलिसी को कोरोना काल में लोगों की स्वास्थ्य समस्याओं को ध्यान में रखकर बनाया गया है। इसमें कोरोना संक्रमित पाए जाने पर अस्पताल में भर्ती, भर्ती होने से पहले और बाद और घर में देखभाल सहित इलाज से जुड़े अन्य खर्चे कवर होंगे। सभी 30 साधारण और स्वास्थ्य बीमा कंपनियां जो हेल्‍थ पॉलिसी देती हैं, वहां से ये पॉलिसी ली जा सकती है।

डॉक्टरों और नर्सों को बीमा पॉलिसी पर मिलेगा 5 फीसदी डिस्काउंट
डॉक्टरों और नर्सों को कोरोना कवच पॉलिसी पर 5 फीसदी डिस्काउंट मिलेगा। इंश्योरेंस रेगुलेटरी एंड डेवलपमेंट अथॉरिटी ने बीमा कंपनियों को इन्‍हें कोरोना कवच प्रीमियम पर 5 फीसदी छूट देने के लिए कहा है। आम लोगों के लिए इसमें मूल कवर का प्रीमियम 447 से 5,630 रुपए (जीएसटी शामिल नहीं) रहेगा। वहीं डॉक्टरों और नर्सों को 5 फीसदी का डिस्काउंट मिलेगा।

No ad for you

यूटिलिटी की अन्य खबरें

Copyright © 2020-21 DB Corp ltd., All Rights Reserved