रेलवे / तेजस एक्सप्रेस में सफर करने वालों को मिलेगा 25 लाख रुपए का मुफ्त यात्रा बीमा

Dainik Bhaskar

Sep 12, 2019, 02:00 PM IST

यूटिलिटी डेस्क. निजी ऑपरेटर के तौर पर देश की पहली ट्रेन तेजस एक्सप्रेस चलाने की तैयारी कर रही इंडियन रेलवे कैटरिंग एंड टूरिज्म कॉरपोरेशन (IRCTC) ने एक घोषणा की है। IRCTC ने कहा कि वह दिल्ली-लखनऊ के बीच चलने वाली तेजस एक्सप्रेस में सफर करने वाले यात्रियों को 25 लाख रुपए का रेल यात्रा बीमा मुफ्त में उपलब्ध कराया जाएगा। अक्टूबर के दूसरे हफ्ते से ट्रेन की शुरुआत होगी।

तेज एक्सप्रेस से जुड़ी खास बातें...

IRCTC के अनुसार दिल्ली-लखनऊ रूट पर चलने वाली तेज एक्सप्रेस में किसी भी प्रकार का कोई कोटा नहीं होगा। 

आईआरसीटीसी ने कहा कि तेजस एक्सप्रेस के सभी एक्जीक्यूटिव क्लास और एसी चेयर कार कोच में 5 सीटें विदेशी यात्रियों के लिए आरक्षित होंगी।  IRCTC ने कहा है कि शुरुआत में इस रूट पर दो ट्रेनें चलाई जाएंगी।
 

IRCTC का कहना है कि सामान्य तौर पर ट्रेनों में 120 दिन पहले टिकट की बुकिंग शुरू हो जाती है लेकिन तेजस में 60 दिन पहले ही टिकट बुकिंग की सुविधा उपलब्ध होगी। 

IRCTC की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि ट्रेन छूटने के चार घंटे पहले तक वेटिंग टिकट कैंसिल कराने पर 25 रुपए का चार्ज लगेगा, जबकि चार्ट बनने और ट्रेन छूटने के 30 मिनट पहले तक टिकट कैंसिल कराने पर कोई चार्ज नहीं लगेगा।  ट्रेन में यात्रियों को कई प्रकार की वीआईपी सुविधाएं उपलब्ध कराई जाएंगी। आईआरसीटीसी ने कहा कि शुल्क अदा करने पर यात्रियों का सामान घर से लेकर ट्रेन में सीट तक पहुंचाने की सुविधा भी प्रदान की जाएगी।

तेजस ट्रेन में वीआईपी कोटा के तहत सांसद, विधायक, राज्यों के मंत्री, जनप्रतिनिधि, रेल अफसर और मीडियाकर्मियों को कंफर्म बर्थ नहीं दी जाएगी। ट्रेन में किसी भी वर्ग को किराए में रियायत नहीं मिलेगी।

इस ट्रेन में 5-12 साल के बच्चे का पूरा किराया लगेगा। उम्मीद है कि दिल्ली-लखनऊ के बीच अक्टूबर माह में देश की पहली निजी तेजस ट्रेन दौड़ने लगेगी। रेलवे बोर्ड के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि इमरजेंसी कोटा के तहत यात्री ट्रेन राजधानी, शताब्दी, दुरंतो, मेल-एक्सप्रेस आदि में वेटिंग टिकट के एवज में बर्थ उपलब्ध कराई जाती है। इसमें सांसद, विधायक आदि शामिल हैं लेकिन आईआरसीटीसी की मदद से चलाई जाने वाली देश की पहली निजी ट्रेन में वीआईपी कोटा का प्रावधान नहीं होगा। तेजस पहली ट्रेन होगी जिसमें आरएसी टिकट जारी नहीं किया जाएगा। वरिष्ठ नागरिकों, दिव्यांग, गंभीर रोगी, पुरस्कार विजेता आदि किसी को भी रियायती टिकट नहीं दिए जाएंगे। ऐसे सभी यात्रियों को पूरा किराया देना होगा। उन्होंने बताया कि तेजस में आम यात्री ट्रेन के कई नियमों को लागू नहीं किया जाएगा।
Next Story

ट्राई / मोबाइल नंबर पोर्टेबिलिटी की फीस 5.74 रुपए हुई, 30 सितंबर से लागू होगी नई फीस

Next

Dainik Bhaskar Brings you the latest Hindi News

Recommended News