Advertisement

Dainik Bhaskar Brings you the latest Hindi News

हनीट्रैप/ महिला जासूस के जाल में फंस पाकिस्तान को सेना की सूचनाएं दे रहा था बीएसएफ जवान



 बीएसएफ जवान अच्युतानंद मिश्रा
  • मध्यप्रदेश के रीवा का रहने वाला है आरोपी अच्युतानंद मिश्रा, एटीएस ने दबोचा
  • खुफिया जानकारी के साथ नक्शे और दस्तावेज आईएसआई को दिए

Dainik Bhaskar

Sep 24, 2018, 04:23 PM IST

लखनऊ. यूपी एटीएस की नोएडा यूनिट ने सेना की जासूसी के आरोप में मंगलवार को बीएसएफ के जवान को गिरफ्तार किया। आरोपी जवान अच्युतानंद मिश्रा मूल रूप से मध्यप्रदेश के रीवा का रहने वाला है। सोशल मीडिया पर एक महिला जो आईएसआई की एजेंट है के हनीट्रैप में फंसकर वह सेना की जासूसी कर रहा था।

 

एटीएस ने बताया कि महिला ने खुद को मिस्र की नागरिक और सेना का रिपोर्टर बताया। शुरुआत में फेसबुक पर चैट हुई। बाद में वीडियो कॉल से बातचीत भी हुई। गिरफ्तार जवान पाकिस्तान के नंबर पर लगातार महिला से बात कर रहा था। एजेंट ने पाकिस्तानी विरोधी बातें करके जवान को अपने जाल में फंसाया था।  


विदेशी एजेंसियों को दी सूचनाएं: इसके बाद अच्युतानंद मिश्रा ने महिला को बीएसएफ कैंप से जुड़ी तस्वीरें, नक्शे सहित कई अहम और गोपनीय सूचनाएं दी। एटीएस को इसके सबूत मिले हैं। डीजीपी ओपी सिंह ने बताया कि एटीएस यह जानने में जुटी है कि कहीं इसके लिए पैसों का लेनदेन तो नहीं हुआ। साथ ही, यह भी पता लगाने की कोशिश की जा रही है कि कहीं और भी जवान इस महिला के शिकार तो नहीं हुए।

 

उन्होंने बताया कि जवान ने पूछताछ में इस बात को स्वीकारा है कि उसने महिला के फेक आईडी पर चैट के माध्यम से सेना की खुफिया जानकारी के साथ नक्शे और कुछ दस्तावेज आईएसआई को दिए। गिरफ्तार जवान के खिलाफ सुरक्षा गोपनीयता एक्ट की धाराओं और आईटी एक्ट के तहत रिपोर्ट दर्ज की गई है। आरोपी 2006 में बीएसएफ में भर्ती हुआ था।  

 

न्यायालय ने आरोपी जवान अच्युतानंद मिश्रा की 5 दिन की रिमांड एटीएस को दे दी है।

Advertisement

Dainik Bhaskar Brings you the latest Hindi News

टॉप न्यूज़और देखें

Advertisement

बॉलीवुड और देखें

स्पोर्ट्स और देखें

Advertisement

Dainik Bhaskar Brings you the latest Hindi News

जीवन मंत्रऔर देखें

राज्यऔर देखें

वीडियोऔर देखें

बिज़नेसऔर देखें