Advertisement

Dainik Bhaskar Brings you the latest Hindi News

जंतर-मंतर/ लंबे समय बाद बेटे अखिलेश के साथ मंच पर पहुंचे सपा संरक्षक मुलायम सिंह



  • अखिलेश यादव के साथ ही प्रोफेसर रामगोपाल यादव के साथ मंच पर आकर साबित कर दिया कि वह भाई के साथ नहीं बल्कि बेटे के साथ हैं
  • मुलायम सिंह यादव को आठ दिन पहले शिवपाल सिंह यादव ने मैनपुरी से अपनी पार्टी समाजवादी सेक्युलर मोर्चा का प्रत्याशी घोषित किया था
  •  

Dainik Bhaskar

Sep 23, 2018, 07:21 PM IST

लखनऊ. नई दिल्ली के जंतर-मंतर पर समाजवादी पार्टी की साइकिल यात्रा के समापन पर समाजवादी पार्टी के सरंक्षक मुलायम सिंह यादव ने आज लंबे समय बाद बेटे अखिलेश यादव के साथ मंच साझा किया। मुलायम सिंह यादव को आठ दिन पहले शिवपाल सिंह यादव ने मैनपुरी से अपनी पार्टी समाजवादी सेक्युलर मोर्चा का प्रत्याशी घोषित किया था।
 
अखिलेश यादव ने आज नई दिल्ली में लोकतंत्र बचाओ-देश बचाओ साइकिल यात्रा में शामिल कार्यकर्ताओं को संबोधित करने के साथ ही साइकिल रैली के समापन किया। इसके साथ ही समाजवादी पार्टी ने चुनावी बिगुल फूंक दिया है। मुलायम सिंह यादव ने नई दिल्ली में अखिलेश यादव के साथ ही प्रोफेसर रामगोपाल यादव के साथ मंच पर आकर साबित कर दिया कि वह भाई के साथ नहीं बल्कि बेटे के साथ हैं। लंबे समय से समाजवादी परिवार में मनमुटाव की खबरें आ रही है। आज नई दिल्ली में पार्टी कार्यक्रम में मुखिया अखिलेश यादव के साथ ही उनके पिता मुलायम सिंह यादव और चाचा राम गोपाल यादव भी मौजूद रहे।

कभी बूढ़ी न होने पाए ये सदैव आगे बढ़ती रहे : मंच से मुलायम सिंह यादव ने कहा कि मेरी इच्छा है कि समाजवादी पार्टी कभी बूढ़ी न होने पाए ये सदैव आगे बढ़ती रहे। इस दौरान मुलायम सिंह ने लड़कियों और महिलाओं को पार्टी की मुख्य धारा में शामिल करने पर विशेष जोर दिया। इसके साथ उन्होंने आने वाले लोकसभा चुनाव में समाजवादी पार्टी के उम्मीदवारों को जिताने की अपील की।

समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने भाजपा पर तंज कसा। उन्होंने कहा कि नोट बंदी से कितना काला धन वापस आ गया। देश में पचास हजार से ज्यादा किसानों ने आत्महत्या कर ली। देश में जीएसटी और नोटबंदी ने हजारों कारखाने और व्यापार बंद करा दिए। इसके बाद भी देश के प्रधानमंत्री कहते हैं कि पकौड़ा बना लो और नाले से गैस जला लो।
उन्होंने कहा समाजवादी सरकार ने अकेले यूपी में दो लाख लोगों को नौकरी दी जिसे नहीं दे पाए उनकी मदद की। लड़कियों की पढऩे मदद की। अखिलेश ने कहा कि समाजवादी पार्टी जवानों के हाथ में होगी। अखिलेश ने कहा कि इस सामाजिक न्याय और विकास यात्रा में नेता जी के आने से जो ऊर्जा हमें मिली है वो बयां नहीं की जा सकती। अखिलेश यादव ने कहा समाजवादी पार्टी लोहिया और अम्बेडकर के दो पहियों पर चलने वाली साइकिल है. मैंने अपनी पत्नी को पहले ही लोकसभा में भेज दिया है।

Advertisement

Dainik Bhaskar Brings you the latest Hindi News

टॉप न्यूज़और देखें

Advertisement

बॉलीवुड और देखें

स्पोर्ट्स और देखें

Advertisement

Dainik Bhaskar Brings you the latest Hindi News

जीवन मंत्रऔर देखें

राज्यऔर देखें

वीडियोऔर देखें

बिज़नेसऔर देखें