Advertisement

Dainik Bhaskar Brings you the latest Hindi News

चंदौली/ शिवपाल की अखिलेश को नसीहत; भरोसे लायक नहीं मायावती, ज्यादा सीट जीत गईं तो देंगी धोखा

Dainik Bhaskar | Jan 16, 2019, 06:46 PM IST
सभा को संबोधित करते शिवपाल यादव।
-- पूरी ख़बर पढ़ें --

  • नई पार्टी बनाने के बाद पहली बार बुधवार को चंदौली पहुंचे शिवपाल यादव
  • सपा-बसपा गठबंधन के साथ भाजपा पर बोला हमला

Dainik Bhaskar

Jan 16, 2019, 06:46 PM IST

चंदौली. प्रगतिशीलसमाजवादी पार्टीलोहिया के गठन के बाद पहली बार बुधवार को चंदौली पहुंचे शिवपाल यादव ने सकलडीहा में जनसभा को संबोधित करते हुए इशारों ही इशारों में अखिलेश यादव को नसीहत दी। उन्होंने कहा कि मायावती भरोसे के लायक नहीं है। अगर वह ज्यादा सीटें जीत गईं तो धोखा दे सकती हैं।

उन्होंने बसपा-सपा गठबंधन के साथ ही भाजपा पर जमकर वार किया। उन्होंने कहा कि, मायावती ने मुझ पर यौन शोषण का आरोप लगाया था, लेकिन जब मैनें नार्को टेस्ट कराए जाने की मांग की तो वह तैयार नहीं हुईं।शिवपाल यादव ने खनन घोटाले की हो रही सीबीआई जांच पर कहा कि, यदि सपा व बसपा कार्यकाल में खनन घोटाला नहीं हुआ है तो सीबीआई से डरने की जरूरतनहीं है। मेरे पास भी खनन विभाग था। लेकिन, मेरे ऊपर कोई आरोप नहीं लगा।शिवपाल ने कहा- मायावती ने नेताजी को गाली दी थी। नेता जी को गुंडा, सपाइयों को गुंडा कहा था।

ये भी पढ़ें

शिवपाल बोले- भाजपा का मुकाबला सपा-बसपा नहीं कर सकती; 45 सेक्युलर दल हमारे साथ

प्रोफेसर साहब ने सपा को लगाया पलीता पर नहीं समझे अखिलेश

शिवपाल ने सपा महासचिव प्रोफेसर रामगोपाल को भी आड़े हाथों लिया। कहा कि, हमारे बड़े भाई प्रोफेसर साहब ने कहा था कि, पूरब में जाओगे तो पिटोगे। मैंने कहा कि, आप पीट भी सकते हो और पिटवा भी सकते हो। कहा कि, प्रोफेसर साहब ने सपा को पलीता लगाया है। सपा को बर्बाद किया है। हमने कहा था कि हमारे बड़े भाई पार्टी को पलीता लगाने के लिए काफी हैं। 232 विधायक में सिर्फ 47 जीते। उन्होंने हमें हराने की पूरी कोशिश की। फिर भी एक लाख 25 हजार वोट मिले। हम सपा से लड़ रहे थे, फिर भी हमें हराने के लिए हर प्रयास किया। मेरी बात अखिलेश को समझना चाहिए था।

भाजपा की नीतियों से हर वर्ग परेशान

समाजवादी पार्टी के गढ़ चंदौली के सकलडीहा में बुधवार को प्रसपा व बहुजन मुक्तिमोर्चा की तरफ से संयुक्त मंडलीय रैली आयोजित की गई थी।जिसमें शिवपाल यादव ने कहा कि, भाजपा सरकार ने नोटबंदी व जीएसटी से व्यापारियों की कमर तोड़ दी। किसानों को उनकी फसल का उचित मूल्य भी नहीं दिया जा रहा। वहीं खाद का दाम कम करना सिर्फ एक लॉलीपॉप था। उत्तर प्रदेश की जनता को न्याय व सम्मान नहीं मिल पा रहा है। कहा कि इन सभी सवालों को लेते हुए सामान्य विचारधारा के लोग साथ मिलकर सर्कुलर मोर्चा को आगे बढ़ाने का प्रयास कर रहे हैं। प्रसपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने ईवीएम में गड़बड़ी करने का आरोप भी भाजपा पर लगाया।