Advertisement

Dainik Bhaskar Brings you the latest Hindi News

अमेरिका: डोनाल्ड ट्रम्प ने गूगल पर लगाया छवि खराब करने का आरोप, कर सकते हैं कार्रवाई

DainikBhaskar.com | Aug 28, 2018, 10:00 PM IST

ट्रम्प का आरोप, उनके खिलाफ नकारात्मक खबरें सर्च करने में अहम भूमिका निभा रहा गूगल

-- पूरी ख़बर पढ़ें --

- फेक खबरों को लेकर ट्रम्प ने मंगलवार को कई ट्वीट भी किए
- अमेरिकी राष्ट्रपति ने मीडिया हाउस सीएनएन पर भी निशाना साधा

वॉशिंगटन. अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने गूगल पर उनकी छवि खराब करने का आरोप लगाया है। अब वे दुनिया के सबसे बड़े सर्च इंजन के खिलाफ कार्रवाई करने की तैयारी में हैं। ट्रम्प का कहना है कि जब से वे राष्ट्रपति बने हैं। मीडिया उनके खिलाफ खबरें चला रहा है। वहीं, उनके खिलाफ नकारात्मक खबरें सर्च करने में गूगल अहम भूमिका निभा रहा है।
अमेरिकी मीडिया हाउस में सीएनएन लगातार ट्रम्प के निशाने पर रहा है। अब उन्होंने गूगल के खिलाफ नाराजगी जाहिर की है। वहीं, कुछ दिन पहले अमेरिकी वेबसाइट यूएसए टुडे ने एक खबर प्रकाशित की थी। इसमें बताया गया था कि अगर गूगल पर इडियट ढूंढते हैं तो सबसे पहले डोनाल्ड ट्रम्प की तस्वीर सामने आती है। इसे लेकर काफी बवाल हुआ था।

ट्रम्प ने किए कई ट्वीट: अपने टि्वटर पोस्ट में मंगलवार को ट्रम्प ने लिखा, ‘‘ट्रम्प लिखने पर गूगल सर्च रिजल्ट में सिर्फ मेरे खिलाफ नकारात्मक खबरें दिखती हैं। यह फेक न्यू मीडिया है। दूसरे शब्दों में कंपनी मेरे और अन्य लोगों के खिलाफ हेराफेरी कर रही है, जिसमें अधिकांश खबरें नकारात्मक हैं। इनमें नकली सीएनएन सबसे अहम है। रिपब्लिकन/ कंजरवेटिव और निष्पक्ष मीडिया सब खत्म हो चुके हैं। ये सब अवैध हैं?

खबरें छिपाने का लगाया आरोप: दूसरे ट्वीट में ट्रंप ने कहा कि 96% से भी अधिक ट्रम्प न्यूज के सर्च रिजल्ट में राष्ट्रीय वामपंथी मीडिया का हाथ है, जो काफी खतरनाक है। गूगल और अन्य कंपनियां कंजरवेटिव की आवाज दबा रहे हैं और खबरों को छिपा रहे हैं। यह अच्छी बात है। ये लोग उन चीजों को नियंत्रित कर रहे हैं, जिन्हें हम देख भी सकते हैं और नहीं भी। यह काफी गंभीर बात है, जिस पर गौर किया जाएगा।

गूगल को महान कंपनी भी बता चुके ट्रम्प: जुलाई 2018 में मोबाइल फोन ऑपरेटिंग सिस्टम को लेकर गूगल के खिलाफ पांच अरब डॉलर का जुर्माना लगने पर ट्रम्प जमकर बरसे थे। उन्होंने कहा था कि गूगल अमेरिका की महान कंपनी है। हालांकि, अब गूगल पर ही निशाना साधते हुए ट्रम्प ने कहा कि इडियट लिखते ही उनकी तस्वीर सबसे पहले क्यों आती है? इसका मतलब यह है कि हजारों लोगों ने उनकी तस्वीरें इडियट शब्द के साथ टैग करके अपलोड की हैं। गूगल को इस पर नजर रखनी चाहिए।