पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Why Nelson Mandela Is Called Mahatma Gandhi Of South Africa

जब गांधीगिरी से भी नहीं चला था काम, तो इस दूसरे गांधी ने उठा ली थी बंदूक

8 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
सदियों से चले आ रहे रंगभेद और नस्लवाद के खिलाफ जीवन भर संघर्ष करने वाले नेल्सन मंडेला आज 95 साल वर्ष की उम्र में निधन हो गया। वे विश्व के सबसे लोकप्रिय राजनेता थे। उन्होंने दक्षिण अफ्रीका में रंगभेद की नीति अपनाने वाली सरकार के खिलाफ लंबा और जुझारू संघर्ष किया। इसके चलते उन्हें जेल में 27 साल गुजारने पड़े। जब वह 1990 में जेल से बाहर आए तो उन्हें जनता ने राष्ट्रपति के रूप में देश का प्रमुख चुना। उनकी प्रतिष्ठा सिर्फ दक्षिण अफ्रीका तक ही सीमित नहीं थी, बल्कि वे दुनिया भर में लोकप्रिय हो गए।
लंबे और शांतिपूर्ण संघर्ष करने पर मंडेला को 1993 में दुनिया के सबसे प्रतिष्ठित नोबल पुरस्कार से भी सम्मानित किया गया। उनका आकर्षण, आत्म-आलोचना, सेंस ऑफ ह्यूमर और अपने विरोधियों के प्रति भी बिना दुर्भावना के साथ व्यवहार करना, उनकी जिंदगी की कहानी को सबसे रोचक बना देता है। यही अद्वितीय बातें उनकी ग्लोबल अपील को बेहद मजबूत बनाती थीं।
आगे जानिए, विश्व के लोकप्रिय राजनेता मंडेला की जिंदगी के सफरनामें से जुड़ी खास बातें, जानने के लिए आगे क्लिक कीजिए...