पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Magnus Karlsen Beat Vishwanathan Anand In Chess Championship 2013

22 साल के कार्लसन के आगे चित हुए ग्रैंडमास्टर विश्वनाथन आनंद, जानें खास बातें

8 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
चेन्नई. नॉर्वे के मैग्नस कार्लसन शतरंज के नए वल्र्ड चैंपियन बन गए हैं। उन्होंने पांच बार के विजेता भारत के विश्वनाथन आनंद के खिलाफ शानदार प्रदर्शन करते हुए 6.5-3.5 से यह चुनौतीपूर्ण मुकाबला जीत लिया। दोनों के बीच दसवीं बाजी ड्रॉ रही।
22 साल की उम्र में विश्व खिताब जीतने वाले वे पहले खिलाड़ी हैं। गैरी कास्परोव ने भी 22 साल की उम्र में खिताब जीता था लेकिन वे कार्लसन से कुछ माह बड़े थे। कार्लसन को इस जीत से 9 करोड़ 60 लाख रु. मिले जबकि आनंद को छह करोड़ 40 लाख रु. से संतोष करना पड़ा।
कार्लसन महज 10 साल की आयु से चैस में अपने दिमाग का दम दिखा रहे हैं। उन्होंने अपनी बहन को पहली बार इस दिमागी खेल को खेलते देखा था।
13 साल की उम्र में जब बच्चे चॉकलेट और कोल्ड्रिंक्स के लिए जिद करते हैं, तब तक कार्लसन चैस के ग्रैंडमास्टर बन चुके थे। वे यह उपलब्धि हासिल करने वाले दुनिया के दूसरे सबसे युवा खिलाड़ी हैं। उसी साल उन्होंने चैस के बादशाह के नाम से मशहूर रहे गैरी कास्प्रोव को बराबरी की टक्कर देते हुए मैच ड्रा करवाया था।
आगे क्लिक कर जानिए, इस नए वर्ल्ड चैंपियन से जुड़ी खास बातें...
बीते 24 घंटे की खबरें