पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • You Will Be Surprised After Reading The Exploits O

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

इन मोहतरमा के कारनामे पढ़ने के बाद हैरान हो जाएंगे आप!

9 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

रायपुर। पॉश कालोनियों के आलीशान मकानों में झाड़ू-पोंछा करते-करते नौकरानी ने 15 लाख के जेवर उड़ा लिए। शातिर नौकरानी सोने के गहनों को गंदे पानी की बाल्टी में छिपाकर ले जाती थी। इससे किसी को उस पर शक नहीं हुआ।। एक के बाद एक उसने छह मकानों में चोरियां की। वह झोपड़ी में बड़े ठाठ से रहती थी। इसी वजह से वह क्राइम ब्रांच के निशाने पर आ गई।





क्राइम ब्रांच के अफसरों और जवानों की टीम ने कड़ी छानबीन के बाद उसे पकड़ लिया। शातिर नौकरानी के पास से 10 लाख के जेवर बरामद कर लिए गए हैं। 5 लाख के जेवर बेचकर पूरे पैसे उसने उड़ा दिए। कुछ पैसों से उसने घर बनाया और कुछ रकम टीवी, फ्रिज और वाशिंग मशीन खरीदने में खर्च कर दी। यह अपनी तरह का पहला मामला है। अब तक इस पैटर्न पर चोरी करने वाली नौकरानी का पता नहीं चला है। नौकरानी ने जितनी प्लानिंग से चोरी की, उसकी हकीकत सामने आने से अफसर हैरान हैं। क्राइम ब्रांच के एडिशनल एसपी अजातशत्रु बहादुर सिंह ने बताया कि टिकरापारा के आशीष तिवारी के मकान में पिछले दिनों 25 हजार की चोरी हुई।इसकी पड़ताल की जिम्मेदारी क्राइम ब्रांच के टीआई आरके साहू को सौंपी गई। छानबीन करती हुई पुलिस राजेंद्रनगर के दुर्गा नगर में रहने वाली रजनी निहाल(25)को गिरफ्तार किया गया।





ऐसे मिला सुराग





पुलिस को हर चोरी के बाद मकान मालिकों ने यही बताया कि उन्होंने दुबली-पतली कमजोर नजर आने वाली नौकरानी अपने घर काम पर लगायी थी। कुछ दिन काम करने के बाद वह गायब हो गई।उसके गायब होने के बाद ही चोरी का पता चला। क्राइम ब्रांच ने इलाकों को ध्यान में रखते हुए एएसआई एस बारीक, राजकुमारी, किशोर सेठ, जयनारायण यादव और महेश के नेतृत्व में अलग-अलग टीमें बनायी। एसबीआई कॉलोनी, टैगोरनगर, शैलेंद्रनगर और बजाज कॉलोनी में गहन छानबीन के बाद ठाठ से रहने वाली नौकरानी के बारे में सुराग मिला। पुलिस के जासूसों ने कुछ दिनों तक उसकी निगरानी की। पुलिसवालों ने खुद उसे जमकर खर्च करते हुए देखा। उसके बाद उसे पकड़ने में देरी नहीं हुई।





तीन साल से झांसा देती रही





पुलिस और क्राइम ब्रांच की टीम पिछले तीन साल से आरोपी महिला के पीछे पुलिस पिछले तीन सालों से लगी थी। वह इतनी शातिर है कि उसने किसी एक इलाके में चोरी नहीं की।वह नई जगह में नाम बदलकर काम में लगती थी। इलाका और नाम बदल जाने के कारण पुलिस उसे तलाश नहीं कर पा रही थी। हालांकि उसका हुलिया जरूर पुलिस के पास था।आरोपी नौकरानी रजनी मूलत:: उड़ीसा की है। वह अपने पति राज के साथ रहती है।





ऐसे करती रही ‘साफ-सफाई’





रजनी ने घरों में काम करते हुए छोटी-छोटी चोरियां करना शुरू की। मामूली चोरी होने के कारण लोग उसे नजरअंदाज करते रहे। एकाध घर वालों ने पकड़े जाने पर उसे नौकरी से भी निकाला। पहली बार उसने बजाज कॉलोनी के सचिन मेघानी के घर साढ़े चार लाख का जेवर उड़ा दिया। सफाई के बहाने वह बेडरूम तक गई और चाबी निकालकर उसने माल पार कर दिया। उसे वह पोंछा वाली बाल्टी में डालकर बाहर तक ले आई। यह किसी को नजर तक नहीं आया। अगले दिन से वह गायब हो गई। ऐसे ही उसने काम कर धीरे-धीरे चोरियां करती गईं।





इन घरों में चोरियां





> 20 नवंबर 2009 को बजाज कॉलोनी में सचिन मेघानी के घर सावित्री बनकर। साढ़े चार लाख के जेवर। > 6 जून 2011 को शैलेंद्रनगर के सुखदेव प्रसाद देवांगन के घर। सुनीता बनकर चार लाख के जेवर पार किए। > 12 जनवरी 2012 को टैगोरनगर के सचिन जैन के मकान में रिंकी से नौकरी पायी। 70 हजार के जेवर व नगदी पार किए। > 12 नवंबर 2011 को टैगोरनगर के नरेश चौहान के घर सुनीता नाम से डेढ़ लाख के जेवर। > 11 जनवरी 2012 को एसबीआई कॉलोनी के आशीष तिवारी के घर रिंकी नाम से। 25 हजार का माल। >हफ्तेभर पहले महिला ने राजेंद्रनगर से पैसों से भरा गुल्लक पार कर डाला।





अब कैसे बचेंगे दुश्मन नक्सली इस इजराइली हेरोन से, क्योंकि..

12 साल के लड़के ने दिखाया दम, दुम दबाकर भागा दादा का हत्यारा

ऐसी गायकी जिसे सुन अपने आप फड़कने लगेंगी बांहें

6 साल की उम्र में हुआ था चमत्कार, इसे सुन आप भी करेंगे जय-जयकार

'थैंक गॉड, सरकार के इस पहल से हमारी बेटियां जल्दी घर तो आ जाती हैं'



आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- किसी भी लक्ष्य को अपने परिश्रम द्वारा हासिल करने में सक्षम रहेंगे। तथा ऊर्जा और आत्मविश्वास से परिपूर्ण दिन व्यतीत होगा। किसी शुभचिंतक का आशीर्वाद तथा शुभकामनाएं आपके लिए वरदान साबित होंगी। ...

और पढ़ें