पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Ames Test Case: All Accused Sent To Tihar

एम्स परीक्षा मामला : सभी आरोपी तिहाड़ भेजे

9 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
नई दिल्ली. एम्स में स्नातकोत्तर मेडिकल एंट्रेंस टेस्ट पेपर लीक मामले में गिरफ्तार तीन डाक्टरों समेत सात अभियुक्तों को पटियाला हाउस अदालत ने दो सप्ताह की न्यायिक हिरासत में तिहाड़ जेल भेज दिया है। दिल्ली पुलिस ने अदालत में कहा है कि अब उसे इन सभी को हिरासत में लेकर और पूछताछ करने की जरूरत नहीं है। रिमांड अवधि समाप्त होने पर पुलिस ने आरोपियों को एडिशनल चीफ मेट्रोपॉलिटन मजिस्ट्रेट अमित बंसल के समक्ष पेश किया। इसके बाद, अदालत ने सभी को 31 जनवरी तक न्यायिक हिरासत में तिहाड़ जेल भेज दिया। इससे पहले दिल्ली पुलिस ने कहा था कि उज्जैन मेडिकल कालेज में द्वितीय वर्ष एमबीबीएस का छात्र मोहित चौधरी (23) इस रैकेट का मुखिया है। वहीं, डा. अमित पुनिया (23), एमबीए के दो छात्र कपिल कुमार (27) और कृष्ण प्रताप सिंह (27) वर्ष के अलावा भीष्म सिंह (23) भी शामिल हैं। बाद में पुलिस ने दो डाक्टर साइ बालेंद्र बख्शी (35) और विमल डांगी (31) को भी गिरफ्तार कर लिया था। पुलिस के आरोप के अनुसार यह गिरोह एमबीबीएस छात्रों को निशाना बनाता था, जो स्नातकोत्तर पाठ्यक्रम में नामांकन करना चाहते थे। गिरोह छात्रों से 25 से 35 लाख रुपए तक वसूलता था और प्रश्नपत्र लीक करने के लिए कथित तौर पर अत्याधुनिक साफ्टवेयर और ई-मेल चित्रों का प्रयोग करता था। गिरोह के सदस्य इसके लिए कमीज में छिपाए गए ब्लूटूथ का इस्तेमाल करते थे। उल्लेखनीय है कि देश भर में सरकारी मेडिकल कालेजों में 50 फीसदी स्नातकोत्तर सीट भरने के लिए एम्स की ओर से आयोजित प्रवेश परीक्षा के प्रश्नपत्र लीक होने की शिकायत के बाद इस गिरोह का भंडाफोड़ हुआ था।