• Hindi News
  • Delhi, Crime, Falak, Sex Scandle, National Capital

गालों को दागा गया गर्म छड़ों से, अब होगा ऑपरेशन

11 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक





नई दिल्ली. एम्स ट्रॉमा सेंटर में भर्ती फलक के शरीर में संक्रमण का स्तर कम होने के बाद उसकी चिकित्सा में जुटे डॉक्टर उसकी एक और सर्जरी करने की तैयारी में जुट गए हैं।






संक्रमण का स्तर कम होने के बाद डॉक्टर उसे वेंटीलेटर से हटाने के बारे में भी विचार कर रहे हैं। फलक के रक्त और सीने से लिए गए नमूनों की कल्चर रिपोर्ट में बिल्कुल संक्रमण नहीं है। मस्तिष्क को छोड़कर अन्य सभी हिस्सों में संक्रमण का स्तर कम होने के बाद उसकी एक और सर्जरी करने पर शनिवार को डॉक्टर विचार करेंगे।




फलक की स्थिति में कोई बड़ा बदलाव तो नहीं आया है, पर पहले के मुकाबले कुछ सुधार जरूर है। फलक का इलाज कर रहे न्यूरोसर्जन डॉक्टर दीपक अग्रवाल ने बताया कि उसकी स्थिति से साफ होता है कि उसको दी जाने दवाओं का उस पर अच्छा असर हो रहा है।




इसके बावजूद जब तक उसके मस्तिष्क का संक्रमण खत्म नहीं हो जाता तब तक उसकी हालत के बारे में स्थिति एकदम साफ नहीं हो सकती है। डॉक्टर इस बात को लेकर भी खासे चिंतित हैं कि फलक लगातार बेहोशी की हालत में है। उन्होंने चिंता व्यक्त करते हुए कहा कि तीन सप्ताह से ज्यादा समय हो गया है और वह बेहोश है। यह अच्छा संकेत नहीं है।




गौरतलब है कि उसको 18 जनवरी को भर्ती कराया गया था। उस वक्त उसके सिर पर कई घाव थे। दोनों बाहें टूटी हुईं थीं। उसके पूरे शरीर पर दांत से काटने के निशान थे। ऐसा महसूस होता था कि उसके गालों को गर्म छड़ों से दागा गया हो।






पहली ही झलक में दीवाना बना देती है इस 'पुलिसवाली' की अदा

सफल ऑपरेशन के बाद आराम कर रहे हैं पापा: अभिषेक

पुलिस की खुफिया रिपोर्ट ने मचाई नेताओं में खलबली

अपने बेटे को हीरो बनवाने वाले नेता को तुरंत छोड़ देना चाहिए पद

10 साल के बच्चे ने किया सचिव की पत्नी के साथ कांड, मचा हंगामा

जब रनवे पर बिना टायर दौड़ा विमान तो अटक गई नेताओं की सांस

नाबालिगों की मदद से हो रहा था धंधा कि तभी धरे गए

मस्ती में डूबे थे सब कि तभी मचा हंगामा, शिकार बनी एक छात्रा

सैकड़ों साल से बचाए हुए थे अपना वजूद, पर अब क्या होगा इनका...