पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

जानिए, यूजीसी नेट की परीक्षा में बदल चुका है बहुत कुछ

9 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

नई दिल्ली. विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (यूजीसी) की ओर से साल में दो बार आयोजित की जाने वाली जूनियर रिसर्च फेलोशिप-लेक्चरशिप की पात्रता के लिए जून में होने वाली परीक्षा के लिए नोटिफिकेशन जारी कर दिया गया है।







24 जून, 2012 को होने वाली इस परीक्षा के आवेदन प्रक्रिया बीते सालों के मुकाबले इस बार एक पखवाड़े देरी से मार्च के बजाए अप्रैल में हुई है। यूजीसी नेट के नाम से पहचानी जाने वाली यह परीक्षा इस बार पूरी तरह से ऑब्जेक्टिव हो गई है और इसके लिए अब 30 अप्रैल तक ऑनलाइन आवेदन और 7 मई तक ऑनलाइन आवेदन का फॉर्म प्रिंटआउट जमा होगा।







जहां तक दिल्ली की बात है तो यहां सालों से परीक्षा केन्द्र के तौर पर पहचाने जाने वाले जामिया मिलिया इस्लामिया को बदलकर इस बार द्वारका स्थित गुरु गोबिंद सिंह इंद्रप्रस्थ विश्वविद्यालय (आईपीयू) को यह मौका दिया गया है।







यूजीसी का नेशनल एलिजिबिलिटी टेस्ट (नेट) जून 2012 से पूरी तरह से ऑब्जेक्टिव हो रहा है। यूजीसी के इस फैसले के बाद अब तीन चरणों में होनी वाली इस परीक्षा का अंतिम हिस्सा जो सब्जेक्टिव होता आ रहा था, वह अब बहु विकल्पीय होगा।







अभी तक 200 अंकों के इस हिस्से में छात्र के विषय ज्ञान को परखा जाता था, लेकिन अब इसके लिए भी पहले दो हिस्सों की तरह ही बहु विकल्पीय प्रश्नों की मदद ली जाएगी। जहां तक अंकों बात है तो अब तीसरे हिस्से के लिए 150 अंक निर्धारित किए गए हैं।







समूची परीक्षा को ऑब्जेक्टिव बनाने के पीछे यूजीसी की कोशिश इस परीक्षा से जुड़ी उत्तर पुस्तिकाओं की जांच में लगने वाले अधिक समय को कम करना है। नई व्यवस्था के तहत निर्धारित नियमों के तहत विभिन्न श्रेणियों में अंतिम परीक्षा के लिए जरूरी क्वालिफाईंग मार्क्‍स का प्रतिशत भी 5 फीसदी तक बढ़ा दिया गया है।







सामान्य श्रेणी के तहत अभी तक तीसरे पेपर में जरूरी 45 फीसदी अंकों के स्थान पर अब 50 फीसदी अंक लाने होगे। इसी तरह, ओबीसी श्रेणी के तहत अभी तक 40 फीसदी अंक लाने होते थे, जो अब 45 फीसदी हो गया है।







वहीं, अनुसूचित जाति-जनजाति/शारीरिक रूप से विकलांग/विजुअली हैंडीकैप श्रेणी के छात्रों के लिए 35 फीसदी अंक निर्धारित थे, लेकिन अब उन्हें 40 फीसदी अंक लाने होंगे।







इस शख्स ने लड़ी थी इंसानियत पर लगे धब्बे को मिटाने की लड़ाई



भविष्य में अगर किसी ने मुंबई में दिखाई ताकत, तो चुप नहीं बैठेंगे राज ठाकरे



शादी के नाम पर बेचता था नाबालिग लड़कियां, सामने आया चेहरा



आज प्राची देसाई और इंडियन ऑयडॉल स्टार होंगे साथ-साथ



नेता जी की पार्टी में पी शराब और बाहर निकलते ही बन गए शैतान!



सहवाग के शहर में डेयरडेविल्स को खाने पड़े धक्के



जानिए, यूजीसी नेट की परीक्षा में बदल चुका है बहुत कुछ



देश की राजधानी में आज 1.34 करोड़ लोग करेंगे 2423 के भाग्य का फैसला