पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

नर्सरी दाखिले की पहली सूची जारी

9 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
नई दिल्ली. नौनिहालों के नर्सरी दाखिले की भागदौड़ में जुटे अभिभावकों के लिए बुधवार का दिन बेहद निर्णायक रहा। राजधानी के ज्यादातर स्कूलों ने अपने यहां नर्सरी दाखिले की पहली सूची नोटिस बोर्ड व वेबसाइट पर उपलब्ध करा दी। पहली दाखिला सूची अभिभावकों के बीच कहीं खुशी तो कहीं गम का माहौल लेकर आई। हालांकि, नाम न आने से निराश अभिभावकों ने अगली सूची और अन्य स्कूलों का रुख करने का फैसला किया, जबकि सफल अभिभावकों ने दाखिला प्रक्रिया की बारीकियां जानने के लिए स्कूलों से जरूरी जानकारियां हासिल करने में रुचि दिखाई। कुछ स्कूलों ने डिमांड ड्रॉफ्ट, पे-ऑर्डर तो कुछ स्कूलों ने केवल नकद में फीस जमा कराने की अनिवार्यता को लागू किया है। जिन बच्चों का नाम पहली सूची में आया है उनको हर हाल में स्कूलों द्वारा निर्धारित समय में दाखिला लेना होगा। यदि कोई अभिभावक पहली सूची के तहत अपने बच्चे को दाखिला नहीं दिला पाता है तो उस स्कूल में उसे दाखिले से हाथ धोना पड़ेगा और उसकी सीट प्रतीक्षा सूची वाले अभिभावक को दे दी जाएगी। लोधी रोड स्थित सरदार पटेल स्कूल ने अपने कैटेगरी सिस्टम के तहत दाखिला सूची जारी की है। डीपीएस मथुरा रोड ने भी दाखिले की पहली सूची जारी कर दी है। स्कूल ने एक किलोमीटर के दायरे में रहने वाले 55 ईडब्ल्यूएस की सूची जारी की है। साथ ही इससे अधिक दूरी में रहने वाले बच्चों की लॉटरी निकालकर पांच बच्चों का चयन किया गया है। जनरल कैटेगरी के 83 बच्चों की सूची जारी की गई है। पहली सूची वाले बच्चों को दाखिले की औपचारिकताएं पूरी करने के लिए 9 व 10 फरवरी का समय दिया है। दाखिले के लिए कुल 2515 अभिभावकों ने आवेदन किया था। पूसा रोड स्थित स्प्रिंगडेल्स स्कूल के बाहर बुधवार सुबह अभिभावकों की भीड़ देखी गई। स्कूल ने सामान्य श्रेणी की 47 सीटों के लिए प्रतीक्षा सूची के साथ 71 बच्चों की सूची जारी की है। दाखिले की औपचारिकताएं पूरी करने के लिए 4 से 7 फरवरी सुबह 8 से 11 बजे तक सफल अभिभावकों को बुलाया गया है। पंजाबी बाग स्थित एनसी जिंदल पब्लिक स्कूल के प्राचार्य डॉ डीके पांडेय ने बताया कि नर्सरी दाखिले में सामान्य और ईडब्ल्यूएस कोटे की कुल 170 बच्चों की सूची जारी की गई है। दाखिले की औपचारिकताएं पूरी करने के लिए अभिभावकों को 28 फरवरी तक का समय दिया गया है। साथ हीं 74 बच्चों को प्रतीक्षा सूची में रखा गया हैं। स्कूल 28 फरवरी के बाद पहली सूची में शामिल बच्चों के दाखिला न लेने के बाद उनकी सीटें प्रतीक्षा सूची वालों को दे देगा।