पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

एमडीयू : प्रदेश के छात्रों के लिए होंगी 85 प्रतिशत सीटें, बाहरी छात्रों के लिए मात्र 15 प्रतिशत

8 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

गुड़गांव. प्रदेश सरकार की नई नीति के अनुसार महर्षि दयानंद विश्वविद्यालय ने नए सत्र से सभी कॉलेजों में हरियाणा के छात्रों के 85 प्रतिशत और अन्य राज्यों के लिए 15 प्रतिशत सीटें निर्धारित की हैं। इसके तहत कई बार हरियाणा के कॉलेजों में दाखिला लेने से वंचित छात्रों को इसका लाभ मिलेगा। प्रदेश के छात्रों को फॉर्म के साथ डोमिसाइल भी जमा करना होगा। जिले की पांचों कॉलेजों में कुल 7440 सीटों में से 6324 सीटों पर हरियाणा का दबदबा रहेगा।

प्रदेश के छात्रों के हित में

इस नीति के पीछे उद्देश्य हरियाणा के स्टूडेंट्स को लाभ पहुंचाना है। द्रोणाचार्य कॉलेज के प्रिंसिपल आरके यादव ने बताया कि इससे पहले ओपन दाखिले होते थे, जिसमें कई बार दिल्ली के स्टूडेंट्स अच्छी प्रतिशतता के चलते दाखिला ले जाते थे।

किस कॉलेज में कितनी सीटें

द्रोणाचार्य कॉलेज में 2780 सीटें हैं, जिनमें 2363 सीटें हरियाणा के छात्रों के लिए हैं।सेक्टर-14 राजकीय महाविद्यालय में 2280 सीटें हैं, जिसमें 1938 सीटें हरियाणा के स्टूडेंट्स के लिए हैं। सेक्टर-9 राजकीय महाविद्यालय की 1380 सीटों में से 1173, जाटोली हेलीमंडी स्थित राजकीय महाविद्यालय की 520 सीटों में से 442 और सिद्धरावली स्थित राजकीय महाविद्यालय की 480 में से 408 सीटों पर हरियाणा के स्टूडेंट्स का दबदबा रहेगा।

कॉलेजों में तैयार होंगी दो मेरिट लिस्ट

कॉलेज प्रशासनों को इस साल जहां दाखिले की प्रक्रिया को ऑनलाइन करना होगा, वहीं इस साल दो मेरिट लिस्ट भी तैयार करनी होगी। इसके लिए हरियाणा के छात्रों को उनके डोमिसाइल के आधार पर पहचाना जाएगा। या फिर जिन्होंने 12वीं हरियाणा से उत्तीर्ण की है वे हरियाणा की मेरिट लिस्ट में शामिल होंगे।

नई नीति के तहत दो मेरिट लिस्ट तैयार की जाएगी। फॉर्मो की जांच की जा रही है, यदि किसी ने डोमिसाइल नहीं लगाया तो उसे जमा कराने के लिए कहा जा रहा है। स्टूडेंट्स को फॉर्म में दिए सभी नियमों को ध्यान से पढ़ने के बाद ही जमा कराना चाहिए। इससे स्टूडेंट्स और कॉलेज प्रशासन दोनों का समय बचेगा।

इंदू जैन, वाइस प्रिंसिपल, सेक्टर-14

हरियाणा के स्टूडेंट्स के लिए इस साल 85 प्रतिशत सीटें रिजर्व रखी गई हैं। इसी के आधार पर मेरिट लिस्ट तैयार होगी। जो भी स्टूडेंट्स फॉर्म जमा कराने के लिए आएंगे, उनका डोमिसाइल भी देखा जा रहा है।

सुषमा चौधरी, सेक्टर-9, राजकीय महाविद्यालय