मिड-डे मील वर्कर्स को अब 1150 रु. मिलेंगे

10 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
चंडीगढ़. मुख्यमंत्री भूपेन्द्र सिंह हुड्डा ने मिड-डे मील वर्कर्स का मासिक पारिश्रमिक एक हजार रुपए से बढ़ाकर 1150 रुपए करने की घोषणा की है। मुख्यमंत्री मंगलवार को यहां मिड-डे मील और आशा वर्कर्स के साथ बैठक में बोल रहे थे। मुख्यमंत्री ने अफसरों को निर्देश दिए कि गर्भावस्था के दौरान मिड-डे मील वर्कर्स को जरूरी मदद उपलब्ध कराई जाए और ऐसी वर्कर्स की सेवाएं रद्द न की जाएं। उन्होंने भरोसा दिया कि जिन मिड-डे मील वर्कर्स की सेवाएं संतोषजनक हैं, सरकार उन्हें नहीं हटाएगी। मुख्यमंत्री ने आशा वर्कर्स की प्रोत्साहन राशि बढ़ाने के संबंध में भी जांच के आदेश दिए और कहा कि इसे दूसरे राज्यों के मुकाबले बेहतर बनाया जाएगा। मुख्यमंत्री ने सुझाव दिया कि आशा वर्कर्स को अपनी समस्याओं को दूर करने के लिए एनआरएचएम निदेशक के साथ बैठक करनी चाहिए। आंगनबाड़ी कार्यकर्ता भी स्वास्थ्य बीमा योजना में : महिला एवं बाल विकास मंत्री गीता भुक्कल ने कहा है कि चालू वित्त वर्ष में चरणबद्ध तरीके से आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को राष्ट्रीय स्वास्थ्य बीमा योजना में शामिल किया जाएगा। पहले चरण में छह जिले कवर होंगे। भुक्कल मंगलवार को राज्य आंगनबाड़ी कार्यकर्ता एवं सहायक संघ के साथ हुई बैठक की अध्यक्षता कर रही थीं।