पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

अब शिक्षा भी होगी महंगी

9 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

शिमला
हिमाचल प्रदेश विश्वविद्यालय में दाखिला लेना भी महंगा हो सकता है। 20 दिसंबर के बाद नए सत्र के लिए प्रवेश परीक्षा फार्म की तिथि को बढ़ाए जाने की योजना है।

हालांकि इसकी अभी आधिकारिक पुष्टि नहीं हुई है, लेकिन रिसोर्स मोबालाइजेशन कमेटी ने जो प्रस्ताव फीस वृद्धि का प्रस्ताव लाया था, उसमें एचपीयू में प्रवेश परीक्षा फार्म फीस बढ़ाने की बात कही गई थी।


सूत्रों की माने तो प्रशासन 20 दिसंबर के बाद नए सत्र में प्रवेश फार्म फीस को बढ़ा सकता है। पिछली बार हुई प्रवेश परीक्षा के दौरान फीस में बढ़ोतरी नहीं की गई थी। इसीलिए इस बार फीस में बढ़ोतरी की जा सकती है। किस फार्म की कितनी फीस बढ़ाई जानी है, इसका खाका भी लगभग तैयार हो चुका है।

एससीए अध्यक्ष राहुल चौहान का कहना है कि विवि प्रशासन चोरी छिपे प्रवेश फार्म की फीस बढ़ाने की तैयारी कर रहा है। विभिन्न विषयों की होने वाले एंट्रेस टेस्ट फार्म की फीस को बढ़ाने के लिए विवि हर प्रकार के हथकंडे अपना रहा है।


उधर, विवि के प्रवक्ता डॉ. रणवीर वर्मा का कहना है कि फीस बढ़ाने की ऐसी कोई योजना नहीं है। छात्रों की हर मांगों पर विवि प्रशासन गंभीरता से विचार कर रहा है।

हजारों करते हैंं आवेदन
प्रदेश विश्वविद्यालय में विभिन्न विषयों की करीब 2200 सीटों के लिए करीब 25 हजार छात्र आवेदन करते हैं। पीएमटी, एलएलबी, एमबीए, एमटीए में हर बार हजारों छात्र आवेदन करते हैं।

जर्नलिज्म का फार्म वर्तमान में 160 रुपए में मिलता है, यदि फीस बढ़ती है तो यह लगभग 300 में मिलेगा।इसी तरह एमबीए का फार्म 700 रुपए में मिल सकता है। एमसीए, यूआईआईटी लॉ सांइसिज और बीटेक के फार्म की फीस भी बढ़ सकती है।

रिसोर्स मोबलाइजेशन कमेटी ने इसके लिए प्रस्तावित फीस वृद्धि का खाका तैयार किया है। यूनिवर्सिटी प्रशासन जैसे ही यह फैसला लेगा उसके बाद एचपीयू में बवाल मचना तय है।