पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

मध्याह्न भोजन योजना: विद्यालयों में मिलने लगे अंडे

7 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
रांची. झारखंड के सरकारी प्राइमरी स्कूलों में मध्याह्न भोजन योजना के तहत शुक्रवार से अंडा अभियान की शुरुआत हुई। यह अभियान राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा कानून 2013 के तहत शुरू हुआ। गौरतलब है कि हर शुक्रवार को मिड डे मील स्कीम के तहत बच्चों को एक अंडा देने का प्रावधान है। लेकिन, अधिकतर स्कूलों में बच्चों को अंडा देखने के लिए भी नहीं मिल रहा था।
अंडा अभियान की शुरुआत राजकीयकृत प्राथमिक विद्यालय, हातमा से हुई। यहां राज्य बाल अधिकार संरक्षण आयोग की अध्यक्ष रूपलक्ष्मी मुंडा ने बच्चों में अंडा बंटवाया। स्कूल के बच्चों को चावल, दाल, चोखा के साथ एक-एक उबाला हुआ अंडा दिया गया। मौके पर शिक्षा विभाग के बीईईओ हकीमुद्दीन अंसारी, रामाशीष पंडित, अर्थशास्त्री प्रो. रमेश शरण, विभिन्न संगठनों के सदस्य सहित स्कूल के प्रधानाध्यापक जयेश लाल व टीचर्स मौजूद थे।
बच्चों को फल भी मिलना चाहिए : रूपलक्ष्मी
रूपलक्ष्मी मुंडा ने कहा कि सरकारी प्रावधान के तहत स्कूली बच्चों को अंडा के साथ फल भी मिलना चाहिए, इससे बच्चे स्कूल आने के लिए प्रेरित होंगे। बच्चों को पोषक भोजन मिल रहा है कि नहीं, इसकी मॉनिटरिंग राज्य बाल अधिकार संरक्षण आयोग भी करता रहता है। उन्होंने कहा कि अगर कोई अभिभावक आरटीई से संबंधित कोई शिकायत करेगा, तो आयोग निश्चित रूप से कार्रवाई करेगा।
नियमित दें अंडे : बलराम
एमडीएम के राज्य सलाहकार बलराम ने कहा कि अंडा भोजन का अधिकार अभियान से जुड़े संगठनों का प्रयास है। यह कानून बच्चों को रोज पौष्टिक भोजन का अधिकार देता है। झारखंड सरकार ने अभी तक इस कानून को लागू करने में ज्यादा रुचि नहीं दिखाई है। यह कानून राज्य के लिए महत्वपूर्ण है। क्योंकि यहां कुपोषण दर ज्यादा है।
तीन दिन दें अंडे
अभियान से जुड़े संगठनों ने कहा कि राज्य सरकार ने सरकारी खर्च से बच्चों को सप्ताह में दो से तीन दिन अंडा देने का निर्णय लिया है। लेकिन अधिकतर स्कूलों में प्रतिदिन एमडीएम नहीं मिलता। सदस्यों ने नियमित अंडा मिले यह सुनिश्चित कराने की मांग सरकार से की है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- सकारात्मक बने रहने के लिए कुछ धार्मिक और आध्यात्मिक गतिविधियों में समय व्यतीत करना उचित रहेगा। घर के रखरखाव तथा साफ-सफाई संबंधी कार्यों में भी व्यस्तता रहेगी। किसी विशेष लक्ष्य को हासिल करने ...

और पढ़ें