रैली ने किया परीक्षार्थियों को परेशान, जाम से जूझते रहे अभ्यर्थी

8 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

रांची. राजधानी में रविवार को प्रतियोगी परीक्षार्थियों पर नरेंद्र मोदी की रैली का जबर्दस्त असर पड़ा। सुबह से परीक्षा के बाद तक परीक्षार्थियों को परेशानी उठानी पड़ी। सड़कों पर न तो वाहन मिले और न ही खाने-पीने की दुकानें। परीक्षा केंद्रों से होकर गुजरने वाली सड़कों पर वाहनों के कारण चलना दूभर था। एसएससी की परीक्षा 60 केंद्रों पर हुई। वहीं, रांची कॉलेज में यूजीसी-नेट का परीक्षा केंद्र था।

जगह-जगह बैरिकेडिंग से परेशानी
रविवार को एसएससी के ग्रेड सी व डी, यूजीसी-नेट और कोल माइंस प्रोविडेंट फंड आर्गेनाइजेशन की परीक्षा थी। सबसे अधिक परेशानी तो एचईसी परिसर में स्थित परीक्षा केंद्रों पर हुई। रैली को लेकर जगह-जगह पुलिस बैरिकेडिंग से परीक्षा देने आए अभ्यर्थियों को पैदल जाना पड़ा। योगदा सत्संग कॉलेज, सरस्वती शिशु विद्या मंदिर, सरदार पटेल स्कूल, विवेकानंद विद्या मंदिर के केंद्रों पर जाने के लिए काफी मशक्कत करनी पड़ी। कई लोगों को उनके रिश्तेदारों ने केंद्रों तक पहुंचाया। परीक्षा शुरू होने के बाद भी उम्मीदवार पहुंचे, तो उन्हें इजाजत दे दी गई।

सड़क पर कम चले वाहन
रैली के कारण राजधानी की सड़कों पर निजी वाहन काफी कम चले। इससे परीक्षार्थियों को केंद्रों तक पहुंचने में परेशानी हुई। रातू रोड चौक, कचहरी चौक, बिरसा चौक, लालपुर चौक, अलबर्ट एक्का चौक, कांटाटोली चौक, हिनू समेत अन्य जगहों पर परीक्षार्थियों को टेंपो, बसों के इंतजार में देखा गया।

जाम में फंसते रहे परीक्षार्थी
एचईसी स्थित केंद्रों पर परीक्षा देने जाने वाले छात्रों को जाम से जूझना पड़ा। दोपहिया और चारपहिया वाहनों से जाने वाले परीक्षार्थी काफी देर तक जाम में फंसे रहें। हटिया रेलवे स्टेशन और बिरसा चौक से आने वाले वाहनों के कारण यह स्थिति थी।

रैली में आने को निकाला जुलूस
नामकुम त्न सीठू साहू, मनोज सिंह व बिरसा पाहन के नेतृत्व में नमो रैली में जाने वालों ने जुलूस निकाला। सुबह सात बजे से लोग महाराणा प्रताप चौक पर रैली में जाने के लिए पहुंच गए थे। इनमें सोनल कच्छप, प्रकाश, बालकृष्णा सिंह, पिंटू आदि शामिल हुए।