एम्स की प्रवेश परीक्षा 1 जून को

10 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
भोपाल। अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान(एम्स) में दाखिले के लिए प्रवेश परीक्षा 1 जून को होगी। परीक्षा फॉर्म की बिक्री 1 मार्च से शुरू होगी। इस परीक्षा के माध्यम से देश के सात एम्स की 365 एमबीबीएस की सीटों पर एडमिशन होगा। भोपाल में खुलने वाले एम्स की ५क् सीटें भी इसमें शामिल हैं। एम्स भोपाल के डायरेक्टर डॉ. संदीप कुमार ने बताया कि दिल्ली के एम्स के अलावा सभी एम्स में एमबीबीएस की 50-50 सीटें हैं, जिन पर एम्स प्री-मेडिकल टेस्ट (एम्स पीएमटी) से एडमिशन दिए जाएंगे। परीक्षा दिल्ली एम्स प्रबंधन लेगा। प्रवेश परीक्षा के लिए भोपाल, दिल्ली, रायपुर, पटना, जयपुर, जोधपुर, भुवनेश्वर, चंडीगढ़ सहित अन्य कई शहरों में केंद्र बनाए गए हैं। इसके लिए विद्यार्थी एक मार्च से स्टेट बैंक ऑफ इंडिया की शाखा से प्रवेश परीक्षा फॉर्म खरीद सकेंगे। सामान्य को एक हजार रुपए में मिलेगा फॉर्म : सामान्य और अन्य पिछड़ा वर्ग उम्मीदवारों को परीक्षा फॉर्म एक हजार रुपए में तथा एससी, एसटी उम्मीदवारों को आठ सौ रुपए में मिलेगा। पर्चे में 20 नंबर का सामान्य ज्ञान एम्स पीएमटी का प्रश्नपत्र 200 नंबर का होगा। इसमें 20 नंबर के प्रश्न सामान्य ज्ञान के होंगे। एम्स पीएमटी परीक्षा शाखा के अधिकारियों ने बताया कि मेडिकल प्रवेश परीक्षा में जनरल नॉलेज शामिल करने की वजह छात्रों का स्तर जानना है। अधिकारियों का तर्क है कि मेडिकल प्रवेश परीक्षाओं की तैयारी करने वाले स्टूडेंट्स का सामान्य ज्ञान अन्य स्टूडेंट्स की अपेक्षा कम होता है। एम्स ने इसलिए मेडिकल साइंस के अलावा अन्य विषयों में रुचि पैदा करने के लिए प्रवेश परीक्षा पाठ्यक्रम में जनरल नॉलेज (सामान्य ज्ञान) को शामिल किया गया है। किस शहर के एम्स में कितनी सीटें शहर का नाम----सीट संख्या दिल्ली-----------65 भोपाल----------50 रायपुर----------50 ऋषिकेश--------50 भुवनेश्वर---------50 पटना----------50 जोधपुर---------50 60 फीसदी अंक वाले ही भर सकेंगे फार्म एम्स पीएमटी 2012 में सामान्य एवं ओबीसी वर्ग के वही उम्मीदवार परीक्षा फॉर्म भर सकेंगे, जिनके हायर सेकंडरी परीक्षा में फिजिक्स, केमेस्ट्री और बायोलॉजी में 60 फीसदी अंक होंगे। एसटी, एससी के उम्मीदवारों के लिए 50 फीसदी अंक अनिवार्य हैं।