पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Government Did'nt Took The Oath Of Cow Funeral

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

सरकार ने नहीं माना गाय के अंतिम संस्कार का संकल्प

7 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
भोपाल. गाय की मौत के बाद सरकारी खर्चे पर उसका अंतिम संस्कार करने और उसकी हड्डी व चर्बी के व्यवसाय पर रोक लगाने का कांग्रेस विधायक आरिफ अकील का अशासकीय संकल्प सरकार ने स्वीकार नहीं किया। अकील की मांग पर हुए मत विभाजन में यह संकल्प गिर गया। अकील के इस संकल्प पर पक्ष और विपक्ष के बीच तीखी बहस हुई।
अकील का कहना था हिंदू धर्म में गाय को मां का दर्जा दिया गया है, कहा जाता है कि गाय के शरीर में 33 करोड़ देवी-देवता वास करते हैं। मौत के बाद गाय को यूं ही छोड़ दिया जाता है। हड्डी और चर्बी का व्यवसाय करने वाले लोग गाय को जबरन मारने का भी प्रयास करते हैं। इस पर रोक लगाने के लिए शासन स्तर पर यह व्यवस्था की जाए कि मौत के बाद गाय को या तो दफनाया जाएगा या दाह संस्कार किया जाएगा।

पशुपालन मंत्री कुसुम महदेले ने संकल्प लाने के लिए अकील की तारीफ की और उन्हें पुरस्कार देने का भी आश्वासन दिया, लेकिन उनके संकल्प को मानने से इनकार कर दिया। महदेले ने तर्क दिया कि नगरीय निकाय मृत पशुओं के शवों का निपटारा करते हैं। उन्होंने पारसी समाज के अंतिम संस्कार का उदाहरण देते हुए तर्क दिया कि गाय के शव को भी दफनाने या दाह संस्कार करने की जरूरत नहीं है।
सरकार के इनकार पर विपक्षी सदस्यों ने तीखी आपत्ति की। नेता प्रतिपक्ष सत्यदेव कटारे के साथ गोविंद सिंह, रामनिवास रावत और मुकेश नायक आदि ने कहा कि भाजपा इस मामले में केवल राजनीति करती है। मंत्री डॉ. गौरीशंकर शेजवार, उमाशंकर गुप्ता और नरोत्तम मिश्रा ने तर्क दिया कि धर्म से जुड़े इस मुद्दे पर धर्म गुरुओं से सलाह के बाद ही निर्णय लिया जा सकता है। विधानसभा अध्यक्ष सीतासरन शर्मा ने अकील से प्रस्ताव वापस लेने का अनुरोध किया। अकील प्रस्ताव वापस लेने की बजाय मत विभाजन की मांग पर अड़ गए। प्रस्ताव के पक्ष में 31 और विरोध में 55 मत पड़े और प्रस्ताव गिर गया।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज आपका अधिकतर समय परिवार तथा फाइनेंस से जुड़े महत्वपूर्ण कार्यों में व्यतीत होगा। और सकारात्मक परिणाम भी सामने आएंगे। किसी भी परेशानी में नजदीकी संबंधी का सहयोग आपके लिए वरदान साबित होगा।। न...

और पढ़ें