पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Old Man Passed High Qualifying Examination

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

47 की उम्र में 12वीं, 65 में पीएचडी की तैयारी, आपके हौसले को सलाम

8 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
इंदौर। दिल में जोश, जज्बा और जुनून हो तो कोई भी काम करने में उम्र का बंधन आड़े नहीं आता। कसरावद (खरगोन) के राजेंद्र जैन ने भी यही साबित किया है, जो 65 वर्ष की उम्र में पीएचडी की पढ़ाई करने इंदौर आए हैं। पेशे से किसान जैन को बचपन से पढ़ाई का जुनून था लेकिन पारिवारिक जिम्मेदारियों के चलते वे पढ़ नहीं पाए। हालांकि उन्होंने इस जुनून को कम नहीं होने दिया। 1994 में 12वीं करने के बाद बीए, एलएलबी, एलएलएम, एमफिल की डिग्री ली। अब वे यूनिवर्सिटी के स्कूल ऑफ लॉ से पीएचडी करने की तैयारी के चलते शनिवार को इंदौर आए।
दिन में खेती, रात में पढ़ाई -जैन कहते हैं कि परिस्थितियां अनुकूल नहीं होने के बावजूद वे दिन में खेती और रात में पढ़ाई करते थे। परिस्थितिवश उन्हें पढ़ाई से दूर होना पड़ा, लेकिन पढ़ाई की इच्छा हमेशा बनी रही। बच्चों को भी बेहतर तालीम देने का लक्ष्य था। इसी का नतीजा है कि उनका एक बेटा इंजीनियर, एक वकील और एक हार्डवेयर इंजीनियर है।
वृद्ध को अनदेखा न कर दें- जैन ने 1965 में इंटरमीडिएट (10+1) की परीक्षा दी थी। उसके बाद घरेलू कारणों से पढ़ नहीं पाए। समय बदला और सब कुछ ठीक हुआ तो 1994 में 12वीं पास की। इसी साल बेटे ने भी इसी कक्षा की परीक्षा दी थी। इसके बाद उन्होंने 2003-04 में खरगोन से ग्रेजुएशन, 2007 में एलएलबी और 2009-10 में यूनिवर्सिटी के स्कूल ऑफ लॉ से एलएलएम व 2011 में एमफिल किया। फिर पीएचडी करने की इच्छा जाग उठी। इस साल पीएचडी परीक्षा की व्यवस्था बदली तो एंटे्रंस परीक्षा दे दी। उन्होंने उसे भी क्लियर कर लिया। अगली प्रक्रिया के तहत शनिवार को इंटरव्यू दिया।
जैन की चिंता यह है कि कहीं वृद्ध होने के कारण चयनकर्ता उन्हें नजरअंदाज न कर दें। बकौल जैन, वे 'ओल्ड एज पीपुल राइट्स सोशल प्रॉब्लम एंड लीगल सॉल्युशंस' विषय पर पीएचडी करना चाहते हैं। वे बताते हैं कि इस विषय पर शोध करने का मुख्य उद्देश्य यह है कि पिछड़े वर्ग के लोगों को देखते हैं तो मन में टीस सी चुभती है। कई माता-पिता ऐसे हंै जिन्होंने जीवनभर की कमाई बच्चों के पालन में लगा दी लेकिन वे ही बच्चे बुढ़ापे में उनकी कद्र नहीं करते। ऐसा कानून बने, जिससे बुजुर्ग गरिमामय जीवन जी सकें।
युवाओं के लिए हैं प्रेरणा
स्कूल ऑफ लॉ की एचओडी अर्चना रांका बताती हैं इस उम्र में भी उनमें पढ़ाई का यह जज्बा युवाओं को भी प्रेरणा देता है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आप प्रत्येक कार्य को उचित तथा सुचारु रूप से करने में सक्षम रहेंगे। सिर्फ कोई भी कार्य करने से पहले उसकी रूपरेखा अवश्य बना लें। आपके इन गुणों की वजह से आज आपको कोई विशेष उपलब्धि भी हासिल होगी।...

और पढ़ें