• Hindi News
  • India Is Best Market For Foreign Investors Report

भारत क्यों बन रहा है निवेशकों की पसंद, जानिए अभी

7 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
नई दिल्ली. अंतरराष्ट्रीय निवेशक भारत को दुनिया का सबसे आकर्षक बाजार मान रहे हैं। अरनेस्ट एंड यंग की रिपोर्ट में यह बात सामने आई है। भारत में एफडीआई का बढ़ना भी इस बात की पुष्टि करता है। क्या कारण रहे, जिससे भारत में ऐसा माहौल बना...
आने वाले तीन साल के लिए भारत इन्वेस्टमेंट के लिहाज से दुनिया का सबसे आकर्षक स्थल बन गया है। देश में इस साल बिजनेस के मान से कई क्षेत्रों में खासा सुधार दर्ज किया गया है। सबसे आकर्षक निवेश स्थल में चीन और ब्राजील का नंबर भारत के बाद है। 2015 की पहली छमाही में भारत ने सबसे ज्यादा एफडीआई हासिल की है। इस बारे में वित्त मंत्रालय ने फाइनेंशियल टाइम्स (लंदन) में प्रकाशित रिपोर्ट का हवाला दिया। रिपोर्ट के मुताबिक, जब एफडीआई आकर्षित करने वाले देशों में इस बाबत कमी देखी गई, भारत में यह अधिक रही। अब तीन या ज्यादा साल तक भारत के लिए 9 से 10 फीसदी की ग्रोथ रेट दर्ज करना चुनौतीपूर्ण रहेगा। सरकार ने निवेशकों को आकर्षित करने के लिए कई कदम उठाए।
निवेश बढ़ने के कारण
1- मेक इन इंडिया
सरकार ने निवेशकों को आकर्षित करने के लिए सरकारी नीतियों को लचीला बनाया। देश को निवेशकों के अनुकूल बनाने की कोशिश की गई। लालफीताशाही को खत्म करने के लिए सरकारी नियम आसान किए। कई राज्य सरकारों ने भी सिंगल विंडो सिस्टम लागू किया।
2- मोदी के विदेश दौरे
निवेश बढ़ने का एक कारण प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के विदेश दौरों को भी माना जा रहा है। मोदी ने 2014-2015 में करीब 26 देशों की यात्रा की उनमें से चार प्रमुख देशों में से तीन मॉरीशस, जापान और अमेरिका से एफडीआई प्रवाह बढ़ा है जबकि ऑस्ट्रेलिया से इसमें मामूली कमी आई है।
3- सरकारी नीतियां
सरकार की महत्वाकांक्षी योजना मेक इन इंडिया का असर भी देखा जा रहा है। योजना के लॉन्च होने के बाद से करीब 7 महीने में एफडीआई में 48 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है। इस अवधि में विदेशी निवेशकों ने भारत में कुल 40.92 अरब डॉलर का निवेश किया है।
सातवीं बड़ी अर्थव्यवस्था
2,300 अरब डॉलर के सकल घरेलू उत्पाद वाला भारत दुनिया की सातवीं बड़ी अर्थव्यवस्था है। 7.5 फीसदी विकास दर के साथ भारत दुनिया में सबसे तेजी से बढ़ने वाली अर्थव्यवस्था है। 2022 तक भारत ग्रेट ब्रिटेन, फ्रांस और जर्मनी को पीछे छोड़कर चौथे नंबर पर आ सकता है।
टियर 2 और टियर 3 शहरों पर नजर
एफडीआई के लिए बेंगलुरु, मुंबई, दिल्ली-एनसीआर, चेन्नई और पुणे आज भी टॉप डेस्टीनेशन बने हुए हैं। ग्लोबल बिजनेस लीडर ने अहमदाबाद, जयपुर, वडोदरा, कोयंबटूर और विशाखापट्नम को एफडीआई के लिए टॉप पांच उभरते शहरों की श्रेणी में रखा है।