• Hindi News
  • Indian Army Pictures Of Glaciers Of Himalayas

PHOTOS: जहां जाने के नाम से कांपती है रूह, वहां यूं डटे रहते हैं जवान!

10 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
नई दिल्ली. सियाचिन ग्लेशियर हिमालय के काराकोरम रेंज के पूर्वी भाग मे स्थित है। सियाचिन समुद्र तल से करीब 5,753 मीटर (20 हजार फीट) ऊंचाई पर है। सामरिक रूप से यह भारत और पाकिस्तान के लिए बहुत महत्वपूर्ण माना जाता है। यह दुनिया का सबसे ऊंचा युद्ध क्षेत्र है। यहां से लेह, लद्दाख और चीन के कुछ हिस्सों पर नजर रखने में भारत को मदद मिलती है। इस पर सेनाएं तैनात रखना दोनों ही देशों के लिए महंगा सौदा साबित हो रहा है। सूत्रों का कहना है कि सियाचिन में भारत के करीब 10 हजार सैनिक तैनात हैं और इनके रख-रखाव पर सालाना करोड़ों रुपए खर्च होते हैं। सियाचिन ग्लेशियर का तापमान -70 डिग्री से भी कम होता है। इतने कम तापमान में सरहद की हिफाजत के लिए देश के जाबांज तैयार रहते हैं। 20 हजार फीट उंचे इस मैदान-ए-जंग में पिछले 27 साल में 2000 से ज्यादा जवान मारे गए हैं। यहां सैनिकों की तैनाती सिर्फ तीन महिने के लिए की जाती है। ग्लैशियर में 150 भारतीय पोस्ट हैं। इस पर रोजाना 15 करोड़ का खर्च आता है। तस्वीरों में देखिए हैरतअंगेज नजारा...