बेहोश कर रेप किया और फिल्‍म बनाई, फिर करता रहा ब्‍लैकमेल

10 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक


नई दिल्‍ली . दिल्‍ली-एनसीआर में महिलाओं की इज्‍जत महफूज नहीं है, यह एक बार फिर साबित हुआ है। सोमवार को हरिद्वार से दिल्ली अपने किसी रिश्तेदार से मिलने पहुंची महिला से लूट और दुष्कर्म का मामला सामने आया है। दुष्कर्म का आरोप एक पुलिसकर्मी पर लगाया गया है।महिला ने अपनी आपबीती एक एनजीओ को भी सुनाई और यह मामला पुलिस तक पहुंचा, लेकिन महिला ने मेडिकल कराने से इंकार कर दिया, जिससे पुलिस देर रात तक कोई मामला दर्ज नहीं कर सकी थी।

जानकारी के मुताबिक हरिद्वार की निवासी 35 वर्षीय एक महिला ने अपने साथ लूट और दुष्कर्म होने की बात एक एनजीओ को बताई, जिसके बाद एनजीओ के पदाधिकारी पुलिस के पास पहुंचे। मगर महिला ने मेडिकल कराने से इंकार कर दिया, जिससे पुलिस भी असमंजस में रही। एनजीओ के पदाधिकारियों के मुताबिक महिला ने बताया था कि रास्ते में उसे मोटरसाइकिल पर सवार एक युवक ने लूट लिया था। लूट की शिकायत उसने न्यू फ्रेंड्स कॉलोनी में गुरुद्वारे के पास खड़े एक पुलिसकर्मी को दी तो उसने यह कहते हुए अपनी बाइक पर बैठा लिया था कि वह उसे थाने ले जाकर कार्रवाई करेगा।

आरोप है कि इसके बाद पुलिसकर्मी ने महिला से दुष्कर्म किया। महिला जब एनजीओ के संपर्क में आई तो यह पूरा मामला थाने पहुंचा, लेकिन बाद में जब महिला ने मेडिकल कराने से इंकार कर दिया तो पुलिस ने भी कोई एफआईआर दर्ज नहीं की। हालांकि महिला काफी देर तक सफदरजंग अस्पताल में भी रही।

उधर, दिल्‍ली के ही प्रसाद नगर में रहने वाली 11वीं कक्षा की एक २० वर्षीय छात्र ने अपने एक परिचित युवक पर दुष्कर्म का आरोप लगाया है। छात्रा का आरोप है कि आरोपी युवक उसे बहाने से कार में बैठा कर गुडग़ांव के पास ले गया, जहां उसके साथ डरा-धमका कर दुष्कर्म किया और फिर वापस छोड़ दिया। पुलिस ने युवती के आरोप पर कानूनी कार्रवाई शुरू कर दी है। पुलिस के अनुसार युवती परिजनों के साथ रहती है और इलाके में ही स्थित एक स्कूल में 11वीं कक्षा की छात्रा है। आरोपी युवक की उम्र लगभग २५ वर्ष है, जिसके परिवार का करोलबाग इलाके में अच्छा व्यवसाय है। पुलिस युवती की मेडिकल जांच करा रही है। मध्य जिला की एडिशनल डीसीपी असलम खान का कहना है कि युवती के आरोपों पर युवक के खिलाफ मामला दर्ज करने की कार्रवाई की जा रही है।

उधर, फरीदाबाद के एक निजी नर्सिंग होम में काम करने वाली युवती को चाय में नशीला पदार्थ मिलाकर बलात्कार करने, मोबाइल फोन से उसकी अश्लील वीडियो फिल्म बनाने और धमकी देने के मामले में कोतवाली थाना पुलिस पर एफआईआर दर्ज न करने का आरोप लगाया है। नेहरू कॉलोनी निवासी एक युवती ने सीपी व एसीपी को दी शिकायत में बताया है कि अगस्त 2011 में वह एनएच-दो स्थित एक निजी नर्सिंग होम में काम करती थी। 28 दिसंबर को चाय पीने के बाद वह बेहोश हो गई। जब होश आया तो पता लगा कि वह बिल्डिंग की चौथी मंजिल पर एक कमरे में नग्न अवस्था में पड़ी है।

आरोपी युवक ने उसके साथ बलात्कार किया था और मोबाइल फोन से उसकी अश्लील रिकॉर्डिंग कर ली। इसके बाद युवक ने उसको धमकी दी कि अगर किसी को उसने कुछ बताया तो वह रिकॉर्डिंग पूरे शहर में फैला देगा। इसके बाद युवक उसके साथ अक्सर धमकी देकर बलात्कार करता रहा। 4 जनवरी को वह उसे धमकी देकर दिल्ली ले गया। उसके साथ उसकी मामी भी थीं। इसके बाद उनको पता लगा कि वे दिल्ली के आर्य समाज मंदिर में हैं।

आरोप है कि युवक ने तेजाब व बंदूक की दम पर उसके साथ शादी की और उसको घर छोड़ गया। इसके बाद जब भी वह नर्सिंग होम जाती थी, युवक उसकी रिकॉर्डिंग दिखाकर उसके साथ धमकी देकर बलात्कार करता था। उससे परेशान होकर 6 फरवरी 2012 को उसने नर्सिंग होम से नौकरी छोड़ दी। नौकरी छोडऩे के बाद भी वह उसको धमकी दे रहा है और उनके परिवार को मारने की बात कहता है। कोतवाली थाने के प्रभारी अशोक कुमार का कहना है कि उनके पास शिकायत आ चुकी है।