• Hindi News
  • Department Of Education Will PMT AIEEE Preparati

शिक्षा विभाग कराएगा पीएमटी/एआईईईई की तैयारी

10 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
जालंधर. अब सरकारी स्कूलों में 12वीं की साइंस स्ट्रीम में पढ़ रहे व पासआउट विद्यार्थियों को शिक्षा विभाग पंजाब एजुसेट सोसाइटी की तरफ से एआईईईई व पीएमटी प्रतियोगी परीक्षाओं की कोचिंग दिलाएगा। इसके लिए सोसाइटी की तरफ से राज्य के सरकारी वरिष्ठ माध्यमिक स्कूलों में 28 मार्च से निशुल्क क्रैश कोर्स शुरू किया जा रहा है, जो तब तक जारी रहेगा, जब तक परीक्षाएं नहीं हो जाती। सरकारी स्कूलों के विद्यार्थी भी इन परीक्षाओं में अच्छे रैंक लेकर नामी संस्थाओं में दाखिला ले इसी उद्देश्य से ही यह कोर्स कराया जा रहा है। यहीं नहीं इस कोर्स में निजी स्कूलों के विद्यार्थी भी हिस्सा ले सकते हैं, मगर इसके लिए उन्हें एक हजार रुपए की फीस का खर्च अदा करना होगा। कोर्स के दौरान विद्यार्थियों को लेक्चरर के अलावा ई-मेल या डाटा कार्ड से स्टडी मैटीरियल भी उपलब्ध कराया जाएगा, जो राज्य सरकार की तरफ से पंजाब एजुसेट सोसाइटी के साथ खर्च को अदा करेगी। क्रैश कोर्स में विद्यार्थियों को किसी प्रकार की परेशानी न हो इसलिए डीजीएसई अशोक सिंगला की तरफ से प्रत्येक जिले के जिला शिक्षा अधिकारी व साइंस सुपरवाइजर को इसकी जिम्मेदारी सौंपी गई है। प्राइवेट स्कूलों के विद्यार्थी कैसे लें दाखिला सरकारी स्कूलों में 12वीं कक्षाओं में पढ़ रहे व पास आउट विद्यार्थियों के लिए तो यह प्रोग्राम निशुल्क है, मगर प्राइवेट स्कूलों के विद्यार्थियों को इसके लिए फीस चुकानी होगी। निजी स्कूलों के विद्यार्थी प्रोजेक्ट डायरेक्टर पंजाब एजुसेट सोसाइटी के नाम एक हजार रुपए का ड्राफ्ट तैयार कराना होगा। इसे वे एजुसेट सुविधा वाले स्कूल प्रिंसिपल के पास जमा करवा कर क्रैश कोर्स का लाभ उठा सकते हैं। सप्ताह में छह दिन चलेगा कोर्स एजुसेट सोसाइटी के जिला कोआर्डिनेटर मनदीप कुमार ने बताया कि राज्य सरकारी की तरफ से सोसाइटी के तहत चलाया जा रहा क्रैश कोर्स सोमवार से शनिवार तक सुबह नौ से दोपहर तीन बजे तक चलेगा। इसमें विद्यार्थियों को परीक्षा की तैयारियों से जुड़े नोट्स व डाटा मुहैया करवाया जाएगा, ताकि विद्यार्थियों को परीक्षा की तैयारियों को लेकर किसी प्रकार की परेशानी न हो। इस कोर्स को शुरू करने के उद्देश्य ही सरकारी स्कूलों के विद्यार्थियों की इन परीक्षाओं की तरफ प्रोत्साहित करना व उन्हें गाइडेंस देकर तैयारी करवाना है, ताकि वह सरकारी स्कूलों में ही पड़ कर अच्छे रैंक हासिल कर नामी कंपनियों में पहुंच सके। सरकारी स्कूलों में साइंस स्ट्रीम में पढ़ रहे व पास आउट विद्यार्थियों को एजुसेट सोसाइटी की तरफ से क्रैश कोर्स करवाया जा रहा है, जो परीक्षा होने तक जारी रहेगा। अधिकारियों की तरफ से निर्देश तो मिल चुके हैं और उन्हें फॉलो किया जा रहा है। -नीलम कुमार, जिला शिक्षा अधिकारी, जालंधर